एटॉमिक मॉडल की प्रस्तुति देख,कलेक्टर ने बच्चो की थपथपाई पीठ,कहा-GOOD,गिफ्ट भी दिए

जांजगीर।कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज से जांजगीर-चाम्पा जिले के सबसे दूरस्थ ब्लॉक डभरा क्षेत्र से विकास कार्यों का जायजा लेना शुरू किया। इस कड़ी में कलेक्टर ने तहसील,जनपद कार्यालय , सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पोषण पुनर्वास केंद्र, कन्या छात्रावास, आंगनबाड़ी सहित स्वामी आत्मानन्द स्कूल, धन्वंतरि मेडिकल दुकान और गोठानों का निरीक्षण किया।कलेक्टर श्री सिन्हा ने डभरा ब्लॉक में सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। यहाँ समय पर चिकित्सकों की उपस्थिति के निर्देश दिए। यहाँ उन्होंने अनुसूचित जाति कन्या छात्रावास पहुंच कर उपलब्ध सुविधाओं का जायजा लिया और अधीक्षक को निर्देशित किया कि बालिकाओं को सम्पूर्ण सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए कमरों में साफ-सफाई के साथ यहां सुरक्षा व्यवस्था का विशेष ध्यान रखे। कलेक्टर ने तहसील कार्यालय डभरा का निरीक्षण कर यहाँ प्रकरणों की जांच की। उन्होंने तहसीलदार श्री बाबूलाल कुर्रे को लंबित प्रकरणों का निराकरण करने और रिकॉर्ड दुरुस्तीकरण करने के निर्देश दिए।

जनपद कार्यालय डभरा का निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने और निराकरण के निर्देश दिए। डभरा में उन्होंने धन्वंतरि मेडिकल दुकान का निरीक्षण किया और उपलब्ध दवाइयों की जानकारी ली। कलेक्टर ने नवागढ़ ब्लॉक के ग्राम बुड़ेना में संचालित शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बच्चों की क्लास ली और गणित सहित सामान्य ज्ञान से संबंधित सवाल भी पूछे। कलेक्टर द्वारा निरीक्षण के दौरान प्रातः लगभग 10.20 बजे यहाँ प्रधानपाठक सहित शिक्षक अनुपस्थित पाए गए। कलेक्टर ने सभी अनुपस्थित शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी करने और वेतन काटने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने नवागढ़ में स्कूल का निरीक्षण किया और विद्यार्थियों को पढ़ाई जा रही स्तर को परखा। इस दौरान एसडीएम डभरा दिव्या अग्रवाल, जनपद सीईओ श्री आर एस नायक उपस्थित थे।

डॉक्टरों को समय पर आने के दिए निर्देश –
कलेक्टर ने डभरा ब्लॉक मुख्यालय में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और पोषण पुनर्वास केंद्र का निरीक्षण किया। यहाँ उन्होंने लैब,ओपीडी,मरीज वार्ड का अवलोकन किया। मौके पर उपस्थित बीएमओ को कलेक्टर ने निर्देशित किया कि अस्पताल में चिकित्सकों की उपस्थिति समय पर सुनिश्चित कराए। यहाँ आने वाले मरीजों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। कलेक्टर ने क्षेत्र में हाट बाजार क्लीनिक की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने यहाँ संचालित पोषण पुनर्वास केंद्र का भी निरीक्षण किया। यहां छत से हो रहे सीपेज को ठीक कराने और शौचालय को स्वच्छ रखने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने केंद्र में भर्ती बच्चों की माताओं से यहां दिए जा रहे पोषण आहार के संबंध में जानकारी ली।

विद्यार्थियों की पीठ थपथपाई और कहा गुड –
कलेक्टर ने डभरा में संचालित स्वामी आत्मानन्द शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी विद्यालय का निरीक्षण किया। यहाँ उन्होंने लैब, लाइब्रेरी और कक्षाओं का अवलोकन किया। लैब में विद्यार्थियों से अंग्रेजी में बात की। केमिस्ट्री और फिजिक्स के विद्यार्थियों द्वारा एटॉमिक मॉडल की प्रस्तुति दी गई। कलेक्टर ने विद्यार्थियों की प्रस्तुति की प्रशंसा करते हुए न सिर्फ पीठ थपथपाई, उन्हें गिफ्ट देकर गुड भी कहा। कलेक्टर ने यहाँ कक्षाओं के विद्यार्थियों से भी बात की और फर्नीचर की गुणवत्ता को भी ठोककर जांचा।

मीनू के आधार पर भोजन का करे वितरण –
कलेक्टर ने डभरा के ग्राम पुटीडीह में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने स्कूल में मध्यान्ह भोजन की और आंगनबाड़ी में दिए जा रहे आहार की जाँच की। यहाँ उन्होंने मीनू के आधार पर भोजन वितरण के निर्देश दिए। आंगनबाड़ी केंद्र में गैस सिलेंडर व कनेक्शन के भी निर्देश दिए। गोठानों को व्यवस्थित रखने और गायों की उपस्थिति बढ़ाने कहा – कलेक्टर ने डभरा ब्लॉक के ग्राम नवापारा और पुटीडीह में संचालित गोठानों का निरीक्षण किया। यहाँ उन्होंने स्व सहायता समूह की महिलाओं से चर्चा की और अपनी स्वरोजगार की गतिविधियों को बढ़ाने तथा आत्मनिर्भर बनने कहा।

नवापारा गोठान में दीया,वैभव और शारदा स्व सहायता समूह की महिलाओं ने मुर्गी पालन,वर्मी बिक्री से लाभ मिलने की बात कही। कलेक्टर ने गोठानों में गायों की उपस्थिति बढ़ाने के साथ चारे के लिए नेपियर घास लगाने और गोबर की खरीदी बढ़ाने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने गोठानों में आजीविका के साधन विकसित करने,बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *