इंडिया वाल

देश भर में 21 नए हवाई अड्डों की स्थापना के लिए ‘सैद्धांतिक स्वीकृति’

नयी दिल्ली- सरकार ने देश भर में 21 ग्रीनफील्ड (बिल्कुल नए) हवाई अड्डों की स्थापना के लिए ‘सैद्धांतिक स्वीकृति’ प्रदान की है जबकि नौ नए हवाई अड्डे खुल चुके हैं। नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल (डॉ) वी के सिंह (सेवानिवृत्त) ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में सोमवार को यह जानकारी दी।उन्होंने कहा कि अब तक नौ नए हवाईअड्डों का संचालन हो चुका है और ऐसे दसवें हवाई अड्डे मोपा, गोवा का उद्घाटन 11 दिसंबर को किया गया है। जनरल सिंह ने कहा कि उपरोक्त सात नए हवाई अड्डे – पाक्योंग (सिक्किम), कन्नूर (केरेला), कलबुरगी (कर्नाटक), सिंधुदुर्ग (महाराष्ट्र), कुशीनगर (उत्तर प्रदेश), ओरवाकल (आंध्र प्रदेश) और डोनी पोलो (अरुणाचल प्रदेश) का उद्घाटन वर्ष 2018 के बाद शुरू हुए हैं।

मोपर गोवा में मनोहर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के उद्घाटन के अलावा हवाई अड्डों का संचालन किया गया है।
जनरल सिंह ने कहा कि हवाई अड्डों का उन्नयन एक सतत प्रक्रिया है और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) द्वारा समय-समय पर भूमि की उपलब्धता, वाणिज्यिक व्यवहार्यता, सामाजिक-आर्थिक विचार, यातायात की मांग/ऐसे हवाईअड्डों से/से संचालित करने के लिए एयरलाइनों की इच्छा आदि के आधार पर किया जाता है।
उन्होंने बताया कि हवाई अड्डों के निर्माण और उन्नयन के लिए एएआई ने 2017-18 में 2504.38 करोड़ रुपए, 2018-19 में 4297.44 करोड़ रुपए, 2019-20 में 4713.49 करोड़ रुपर 2020-21 में 4350 करोड़ और 2021-22 में 3724.34 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि पूर्व-कोविड अवधि के दौरान, वर्ष 2018-19 में देश भर के हवाई अड्डों पर यात्रियों की संख्या में एक साल पहले से 11.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी । महामारी के दौर में यात्रियों की संख्या में कमी आई है, हालांकि उसके बाद 2021-22 में वर्ष 2020-21 की तुलना में 63.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS