लगातार कम हो रहा संक्रमण की रफ्तार बताने वाला R-Value, केरल-महाराष्ट्र में भी 1 से कम, जानें क्या है इसका मतलब

दिल्ली।कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने की रफ्तार देश में लगातार कम हो रही है. संक्रमण की रफ्तार को दर्शाने वाला ‘आर-वैल्यू’ (R-value) सितंबर के मध्य तक घटकर 0.92 रह गया जो अगस्त के अंत में एक से ऊपर चला गया था. शोधकर्ताओं ने इस बात की जानकारी दी. ‘आर-वैल्यू’ एक मानक है जिससे पता चलता है कि कोरोना वायरस संक्रमण कितनी तेजी से फैल रहा है.आसान शब्दों में समझें तो ‘आर-वैल्यू’ के कम होने का सीधा संबंध कोरोना के खतरे के कम होने से है. अगर ‘आर-वैल्यू’ लगातार कम बना रहता है तो इसका मतबल ये है कि कोविड 19 का कहर धीरे-धीरे कम हो रहा है. अगर इसके खिलाफ उठाए जाने वाले कदम लगातार जारी रहे तो आने वाले टाइम में इस पर काबू पाया जा सकता है.

इन शहरों में सबसे ज्यादा ‘आर-वैल्यू’
आंकड़ों के अनुसार मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु जैसे प्रमुख शहरों में ‘आर-वैल्यू’ एक से अधिक है. हालांकि दिल्ली और पुणे में ‘आर-वैल्यू’ एक से कम है. महाराष्ट्र और केरल में ‘आर-वैल्यू’ एक से कम है जो इन राज्यों के लिए बड़ी राहत है क्योंकि यहां सबसे अधिक सक्रिय मामले हैं. अगस्त के अंत तक ‘आर-वैल्यू’ 1.17 था. चार से सात सितंबर के बीच यह घटकर 1.11 हुआ और उसके बाद ये यह एक अंक से नीचे बना हुआ है.

केरल और महाराष्ट्र में भी ‘आर-वैल्यू’ 1 से कम
चेन्नई के गणितीय विज्ञान संस्थान के सीताभ्र सिन्हा ने कहा, ‘अच्छी खबर यह है कि भारत में आर-वैल्यू एक से कम बना हुआ है. केरल और महाराष्ट्र में भी, जहां सबसे अधिक सक्रिय मामले हैं.’ सिन्हा ‘आर-वैल्यू’ की गणना करने वाली शोधकर्ताओं की एक टीम का नेतृत्व कर रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक, मुंबई में ‘आर-वैल्यू’ 1.09, चेन्नई में 1.11, कोलकाता में 1.04, बेंगलुरु में 1.06 है.

दूसरी लहर के बाद आर-वैल्यू में हुई गिरावट
रिप्रोडक्शन नम्बर या आर यह दर्शाता है कि एक संक्रमित व्यक्ति औसतन कितने लोगों को संक्रमित करता है. दूसरे शब्दों में, यह बताता है कि एक वायरस कितनी तेजी से फैल रहा है. विनाशकारी दूसरी लहर के बाद आर-वैल्यू में गिरावट शुरू हो गई. मार्च-मई की अवधि के दौरान संक्रमण से हजारों लोगों की मौत हुई, जबकि लाखों लोग संक्रमित हुए. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अभी मरीजों के ठीक होने की दर 97.75 फीसदी है. पिछले 88 दिनों से साप्ताहिक संक्रमण दर (2.08 प्रतिशत) 3 प्रतिशत से कम रही है.

राज्यों के पास 5.34 करोड़ से अधिक खुराक मौजूद

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों को अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 79.74 करोड़ से अधिक खुराक दी गई है और 33 लाख से अधिक खुराक दी जाने की तैयारी जारी है. मंत्रालय ने कहा कि राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों के पास अब भी 5.34 करोड़ से अधिक खुराक मौजूद हैं, जिसका वे इस्तेमाल कर सकते हैं.मंत्रालय ने कहा कि टीकों की उपलब्धता बढ़ाने से टीकाकरण अभियान में तेजी आई है. राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों को टीकों की उपलब्धता का पहले से पता चलने की वजह से वे बेहतर योजना बना सकते हैं तथा टीके की आपूर्ति श्रंखला भी व्यवस्थित रहती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *