हमार छ्त्तीसगढ़

झूठे न्याय की बात करने वाले कांग्रेस का असली चेहरा, राधिका खेड़ा ने किया उजागर

CG News।रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता रंजना साहू ने कहा है कि आज कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता राधिका खेड़ा ने कांग्रेस के राजीव भवन में हुई बदसलूकी के लिए पार्टी से न्याय नहीं मिलने पर कांग्रेस इस्तीफा देते हुए पीड़ा व्यक्त की है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

चूँकि वह प्रभु श्रीरामलला का अयोध्या में दर्शन करने से खुद को रोक नहीं पाई थीं, इसलिए उन्हें काफी दिनों से पार्टी में अपमान और उपेक्षा का सामना करना पड़ रहा था। इनके इस्तीफे के कुछ अंश को लेकर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता रंजना साहू ने कांग्रेस पार्टी, राहुल और प्रियंका गांधी को आड़े हाथ लेते हुए सवाल भी दागे।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती साहू ने कहा कि राधिका खेड़ा ने अपने इस्तीफे में लिखा है, आदिकाल से यह स्थापित सत्य है कि धर्म का साथ देने वालों का विरोध होता रहा है। हिरण्यकशिपु से लेकर रावण और कंस तक इसका उदाहरण हैं।

वर्तमान में प्रभु श्रीराम का नाम लेने वालों का कुछ लोग इसी तरह विरोध कर रहे हैं। श्रीमती साहू ने कहा कि उक्त आरोप भाजपा ने नहीं, बल्कि कांग्रेस में 22 साल तक सेवा करने वाली एक महिला नेत्री ने लगाए हैं। इससे बड़ा देश की जनता के सामने और क्या प्रमाण हो सकता हैं कि कांग्रेस और गांधी परिवार सनातन धर्म और हिंदू विरोधी मानसिकता रखता है। 

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती साहू ने कहा कि राधिका खेड़ा ने अपने इस्तीफे के माध्यम से सच्चाई सामने ला दी है और जनता जनार्दन भगवान के रूप में कांग्रेस और इंडी गठबंधन दलों का राजनैतिक सर्वनाश करेगी। देश में मोदी सरकार के नेतृत्व में रामराज्य की स्थापना करने के लिए देश की जनता मन बना चुकी है, क्योंकि देश के सामने अब कांग्रेस के झूठे न्याय पत्र की पोल भी खुल चुकी है। सिर्फ सत्ता पाने के लिए जनता को झाँसे में लेने और श्रीराम और पीएम मोदी तक को कांग्रेस उपहास और गाली देने से नहीं चूक रही है। कांग्रेस की तुष्टीकरण नीति से पूरा देश अवगत हो चुका है। 

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती साहू ने सवाल दागा कि राहुल और प्रियंका वाड्रा की कांग्रेस जब एक महिला के सम्मान की रक्षा नहीं कर सकीं तो कैसे लोगों को न्याय दिलाएगी?

कांग्रेस के राष्ट्रीय अधिवेशन में प्रियंका वाड्रा के पीए ने महिला नेत्री के साथ छेड़खानी जैसे कुकर्म को अंजाम दे डाला था। लेकिन एक महिला होते हुए भी प्रियंका गांधी ने महिला नेत्री को ही उल्टा प्रताडि़त करवाने लगी थीं। झूठ और महिलाओं के प्रति गंदी मानसिकता पालने वाले ही क्या कांग्रेस में खास हैं? कांग्रेस का चरित्र है कि भ्रष्टचारी और चरित्रहीन जैसे अपने नेताओं के पक्ष खड़े रहना। महिलाओं के नाम पर बड़ी-बड़ी बातें करने वाली कांग्रेस के इस सनातन विरोधी और महिला विरोधी मानसिकता को देश जान चुका है। यही सोच कांग्रेस को ले डूबी है, कम-से-कम अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता का सम्मान ही बचा लेते। अब तो कांग्रेस के पतन की तारीख तय हो चुकी है। 4 जून के बाद पीएम मोदी जी 400 पार सीटों के साथ तीसरी बार जैसे ही प्रधानमंत्री बनेंगे, खानदानी-चश्मो चिराग तो विदेशी सैर-सपाटे पर चले जाएंगे।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती साहू ने कहा कि राहुल जी और प्रियंका ने भ्रष्टचार के आरोपों से घिरे भूपेश बघेल को आज भी सिर्फ इसलिए सर आंखों पर बैठया है क्योंकि वे पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में आपके लिए तो भू-पे थे।

इसलिए उनके करीबी के खिलाफ कार्रवाई करने की पार्टी में हिम्मत नहीं थी। कांग्रेस और गांघी-परिवार की इस चलाकी को सभी समझ रहे हैं। बस इंतजार करिए, मतदान के दिन जनता अपने वोट से श्रीराम विरोधियों और कांग्रेस का सर्वनाश कर देगी।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close