इंडिया वाल

Rahul Gandhi ने कहा, इंडिया गठबंधन की बैठक बुधवार को, राणनीति पर होगा फैसला

 दिल्ली/कांग्रेस नेता Rahul Gandhi ने कहा कि बुधवार को इंडिया गठबंधन की बैठक होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा। फैसला इस बात का लिया जाएगा कि कांग्रेस विपक्ष में बैठेगी या सरकार बनाने की कोशिश करेगी। लोकसभा चुनाव में उत्साहवर्धक प्रदर्शन करने के बाद कांग्रेस ने मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेंस किया जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

Join Our WhatsApp Group Join Now

उसके बाद Rahul Gandhi ने भी कहा, अब नरेंद्र मोदी नहीं चाहिए। राहुल गांधी ने सबसे पहले प्रेस पर तंज कसा। उन्होंने कहा, “आप जितनी हमारी मदद कर सकते थे, आपने की। लेकिन मैं एक बात कहना चाहूंगा कि यह चुनाव महज बीजेपी के खिलाफ नहीं, बल्कि सभी संवैधानिक संस्थाओं, जांच एजेंसियों, न्यायपालिका के खिलाफ था, जिसे पीएम मोदी और अमित शाह ने अपने कब्जे में ले रखा है। इंडिया गठबंधन बहुत ही प्रतिकूल माहौल में चुनाव लड़ा।“

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, “प्रेस की बात तो मैं करता रहता हूं। आपका रोल अहम है, लेकिन यहां इस बात का जिक्र करना जरूरी है कि यह लड़ाई संविधान को बचाने की थी। मैं आपको सच बताऊं, तो मेरे माइंड में पहले से ही था, जब इन्होंने हमारा बैंक अकाउंट फ्रीज किया, सीएम को जेल में डाला, पार्टियां तोड़ीं। मेरे माइंड में था कि अब हिंदुस्तान की जनता संविधान बचाने के लिए एक हो जाएगी।“ इस बीच राहुल ने सभी का शुक्रिया भी अदा किया।

उन्होंने कहा, “मैं आप सभी का धन्यवाद देना चाहूंगा, क्योंकि आपने संविधान बचाने के लिए बड़ा कदम उठाया है। कांग्रेस पार्टी ने दो तीन चीजें की, सबसे पहले हमने इंडिया गठबंधन के दलों का सम्मान किया। जहां भी गठबंधन लड़ा, हम एक रहे। कांग्रेस ने पूरे हिंदुस्तान को एक नया विजन दिया है। कांग्रेस ने नया विजन दिया है। इंडिया गठबंधन का यह प्रदर्शन शानदार रहा है। बीजेपी ने संविधान और गरीबों पर प्रहार किया, जिसका उसे आज जवाब मिला है।“

राहुल ने आगे कहा, “अंत में, मैं आपको कह दूं, संविधान को बचाने का काम, देश के सबसे गरीब लोगों ने किया है। आदिवासियों ने किया है। बहुत सारे लोगों ने इसे नहीं बचाया, लेकिन हिंदुस्तान के सबसे गरीब लोगों ने इसे बचाया है, मैं उनका धन्यवाद करना चाहूंगा, हम आपके साथ खड़े हैं। हम अपने द्वारा किए गए सभी वादों को पूरा करेंगे।” उधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “आज जो देश में चुनाव के रिजल्ट आए हैं, ये जनता का रिजल्ट है, जनता की जीत है।

लोकतंत्र की जीत है। हम पहले से यह कह रहे थे कि यह लड़ाई मोदी बनाम जनता है। हम 18वीं लोकसभा के चुनाव में विनम्रता से जनमत को स्वीकार करते हैं। इस बार जनता ने किसी एक दल को पूर्ण बहुमत नहीं दिया। खासकर भाजपा को। भाजपा ने एक व्यक्ति के नाम पर वोट मांगा और अब यह स्पष्ट हो गया है कि यह जनादेश मोदी जी के खिलाफ गया है और यह उनकी नैतिक हार है, जो व्यक्ति अपने नाम से वोट मांगते थे, यह उनकी हार है और नैतिक दृष्टि से उनकी बड़ी हार है। खरगे ने आगे कहा, “आप जानते हैं कि कांग्रेस और इंडिया गठबंधन ने बहुत ही प्रतिकूल माहौल में चुनाव लड़ा। हमारे रास्ते में अवरोध डाले गए, हमारे बैंक खाते फ्रीज किए गए, लेकिन फिर भी कांग्रेस पार्टी का कैंपेन सकारात्मक था।

हम महंगाई, किसान, मजदूरों और संविधान संस्थाओं के दुरुपयोग को लेकर जनता के बीच गए। लोगों ने हमारा समर्थन किया। पीएम मोदी ने जिस तरह का कैंपेन किया, उसे इतिहास में लंबे समय तक याद रखा जाएगा।“ उन्होंने कहा, “कांग्रेस के घोषणापत्र के बारे में जो झूठ पीएम मोदी ने फैलाया, उसे लोगों ने याद रखा। राहुल गांधी ने दो यात्रा की और लोगों की समस्याएं सुनीं। हमने उसी को पांच गारंटी का नाम दिया और उसी के नाम पर हमने गारंटी कार्ड बनाया।

इसके आधार पर हम लोगों तक पहुंचे और बड़ी बात यह है कि भाजपा का अहंकार समाप्त हुआ, जो दब गए, बीजेपी उसे अपने साथ ले गई और जो नहीं दबे, उसे जेल भेज दिया। लोगों को यह विश्वास हो गया कि अगर मोदी जी को एक बार फिर मौका मिला, तो वो संविधान पर हमला बोलेंगे। खुशी इस बात की है कि भाजपा अब इसमें सफल नहीं हो पाएगी।”

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close