रायगढ़ पुलिस की मुहिम : चार सौ से अधिक वारंटी और फ़रार आरोपी अदालत में पेश, पहचान छिपाकर दूसरे जिलों में रह रहे गुंडा-बदमाशों की धरपकड़

रायगढ़ । रायगढ़ पुलिस की ओर से वारंटियों और फ़रार आरोपियों के मामले में ताबड़तोड़ कार्रवाई की ज़ा रही है। इस सिलसिलें में पुलिस ने रिकॉर्ड 400 से अधिक वारंटियो एवं अन्य फरार वांछित लोगों को न्यायालय में पेश किया । आरोपियों, गुंडा-बदमाश व वारंटियों पर पुलिस काी ताबड़-तोड़ कार्यवाहियां जारी है ।अभियान में 57 प्रकरणों में 68 फरार  वांछित आरोपियों को दूसरे जिलों/प्रदेश से गिरफ्तार किया गया है। सभी थाना में कुल 220 गुंडा व निगरानी बदमाशों की जांच कर उन्हें अपराधों से दूर रहने की हिदायत दी गई। 
पुलिस से मिली ज़ानकारी के मुत़ाबिक इसके अतिरिक्त सप्ताह भर के विशेष अभियान में 170 से अधिक फरार स्थायी वारंटी को न्यायालय पेश किया गया व 400 से अधिक समंस/वारंट की हुई तामिली की गई।जिसमें कई वारंटियों को उनके गिरफ्तारी वारंट की जानकारी भी नहीं थी एवं कुछ अपनी पहचान छुपा कर अन्य जिलों में गुजर बसर कर रहे थे । इसमें से चौकी कनकबीरा के स्थाई फरार वारंटी पुरुषोत्तम चौहान पर दहेज प्रताड़ना के मामले में सारंगढ़ न्यायालय द्वारा स्थाई वारंट जारी किया गया था । जिसे रायपुर में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में कार्य करते हुए गिरफ्तार किया गया एवं न्यायालय में पेश किया गया । जूट मिल का फरार आरोपी मुन्ना उर्फ दीपक सिदार अपनी पहचान छुपा कर जांजगीर के एक होटल में कार्यरत था तथा चोरी के मामले का एक अन्य आरोपी रंजन गॉड पिछले 10 साल से दूसरे राज्य में जाकर छुपा था । वर्तमान में रंजन सब्जी बेचने के कार्य में लगा था । एक अन्य आरोपी सुशील चौहान स्थायी वारंटी है उसने ऑटो चला कर अपनी पहचान छुपा ली थी । इस तरह सप्ताह भर के विशेष अभियान में रिकार्ड 170 से अधिक फरार स्थायी वारंटी को न्यायालय पेश किया गया व 400 से अधिक समंस/वारंट की हुई तामिली की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *