राज्योत्सवः शुभारम्भ के साथ देर रात तक चला रंगारंग का दौर.रश्मि सिंह ने कहा.गांव से शहर तक विकास की बयार

बिलासपुर— रंगारंग कार्यक्रम के साथ पुलिस लाइन मैदान में एक दिवसीय राज्योत्सव धूमधाम और गरिमामय वातावरण में मनाया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह ने किया। स्टाल का निरीक्षण कर सरकार की विकास जनहित में किए गए विकास कार्यों को उपस्थित लोगों के सामने रखा। रश्मि सिंह ने कहा कि राज्योत्सव में लगाई गयी झाकिंगा सरकार के चार साल की उपलब्धियों की कहानी कहता है।
 
             संसदीय सचिव रश्मी आशीष सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि राज्योत्सव में 31 विभागों के स्टॉल लगाए गए हैं। सभी स्टॉल पिछले चार सालों में सरकार की विकास कार्यों को खूबसूरत झांकी पेश करता है। रश्मि आशीष सिंह ने बताया कि प्रमुख रूप से जिला पंचायत, कृषि विभाग, वन विभाग, उद्यानिकी विभाग, स्वास्थ्य विभाग, जनसंपर्क विभाग, स्वास्थ्य, आयुष विभाग, मछलीपालन, पशुपालन, जल जीवन मिशन, शिक्षा विभाग, महिला व बाल विकास विभाग, एनटीपीसी, एसईसीएल की झांकियों को देखने से ही जाहिर हो जाता है कि सरकार ने  पिछले चार सालों में जनहित के मुद्दों को कितनी गंभीरता से लिया है। मुख्य अतिथि ने सभी स्टालों का गंभीरता के साथ अवलोकन किया है।
 
रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन
 
                 एक दिवसीय राज्योत्सव कार्यक्रम के दौरान स्थानीय छत्तीसगढ़ी लोक संस्कृतियों पर आधारित प्रस्तुतियों को सभी ने पसंद किया। अनिल कुमार गढ़वाल की अगुवाई में लोक श्रृंगार भारती टीम ने गेड़ी नृत्य की सुंदर प्रस्तुति ने मन मोह लिया।  तखतपुर खजुरी लोक कलाकारों ने श्रवण कुमार मरावी की अगुवाई में परंपरागत कर्मा नृत्य की प्रस्तुति देकर लोगों को तालिया पीटने को मजबूर किया।
 
               इस दौरान स्कूली बच्चों ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया। महारानी लक्ष्मी बाई कन्या स्कूल, देवकीनंदन क्षत्री कन्या स्कूल, चिंगराज पारा और सरकंडा उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय की बच्चों की टोली ने कार्यक्रम पेश कर जमकर रंग जमाया।  कार्यक्रम में शिरकत करने वाले सांस्कृतिक दलों को मुख्य अतिथि ने प्रशस्ति पत्र और  प्रोत्साहन राशि से सम्मानित किया।
 
पारम्परिक खेलों को बढ़ावा
 
                     कार्यक्रम का शुभारंभ संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह ने छत्तीसगढ़ महतारी की पूजा अर्चना के साथ शुरू किया। उपस्थित लोगों को अपने संबोधन में रश्मि सिंह ने सभी को राज्योत्सव की बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोग उत्सवधर्मी हैं। खुशहाल प्रदेश की यही सबसे बड़ी विशेषता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संस्कृति और   कला संरक्षण के साथ ही पारंपरिक खेलों को बढ़ावा दिया है।  रहे हैं। शहर से लेकर गांव तक नवयुवकों में खेलों के प्रति उत्साह का माहौल है।
 
                 समारोह में विधायक कृष्णमूर्ति बांधी, महापौर रामशरण यादव, सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक, मंडी अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला, कमिश्नर संजय अलंग, आईजी रतनलाल डांगी, कलेक्टर सौरभकुमार, एसएसपी पारुल माथुर सहित बड़ी संख्या में नागरिक एवं अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
 
विकास की गति को पंख
 
           विधायक कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा कि अलग राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ में तेजी से विकास कार्य हुआ है। संयुक्त मध्यप्रदेश के समय छत्तीसगढ़ की अनदेखी हुई। राज्य निर्माण के समय वर्ष 2000 में राज्य का बजट केवल 9000 करोड़ था। आज बढ़कर एक लाख करोड़ हो गया है। इससे विकास की गति का आकलन किया जा सकता है।
 
हर तरफ खुशहाली
 
            सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक ने  अपने संबोधन में कहा कि 23 साल का युवा छत्तीसगढ़ तेजी से विकास कर रहा है। राज्योत्सव के शुभ अवसर पर आज से किसान हित में राज्य सरकार ने धान खरीदी शुरू की है। इसके चलते हर तरफ खुशहाली का वातावरण है।
 
बढ़ गया मान सम्मान
 
             महापौर रामशरण ने कहा की पृथक राज्य में छत्तीसगढ़िया लोगों का मान सम्मान बढ़ा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में गांव, गरीब और किसानों को सर्वांगीण विकास हो रहा है। धान की तरह 65 प्रकार की वनोपजों का समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है।इसका लाभ वनवासियों को मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *