पढ़ें…ऐसे पकड़ायी बिलासपुर की महिला नटवर लाल..फारेस्ट विभाग में नौकरी लगाने का झांसा देकर..कैसे दी लाखों रूपयों की ठगी को अंजाम

 
बिलासपुर— तोरवा पुलिस ने फारेस्ट में नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रूपयों की ठगी करने वाली महिला को गिरफ्तार किया है। महिला का नाम सविता गिरी गोस्वामी उर्फ गुड्डी उर्फ सुरेखा वर्मा पति चंद्रभान गिरी गोस्वामी उम्र 45 साल है। महिला अशोकनगर गुढ़ियारी रायपुर की रहने वाली है। महिला के खिलाफ तोरवा थाना में ठगी के अलग अलग मामलों में करीब चार से अधिक लोगों  शिकायत की थी। विवेचना के बाद पुलिस ने महिला को बुधवारी बाजार से गिरफ्तार किया है।
         
                  तोरवा थानेदार परिवेश तिवारी ने बताया कि थाना पहुंचकर दूजराम कंवर निवासी कर्मा सीपत, कोमल कश्यप निवासी गढ़वट रतनपुर, अजय कश्यप निवासी कर्मा सीपत और सुकृति निवासी सीपत ने लिखित शिकायत में ठगी का शिकार होना बताया। पीड़िता ने जानकारी दी कि महिला ठग ने खुद को वन विभाग की बड़ी कर्मचारी बतायी। चारों से नौकरी लगाने के नाम पर करीब पांच लाख 10 हजार से अधिक रूपयों की ठगी की है। शिकायत कर्ताओं ने यह भी बताया कि साल महीना बीत जाने के बाद भी सविता गिरी गोस्वामी ने ना तो किसी की नौकरी दी। और  ना रूपये ही लौटा रही है।
 
                 परिवेश तिवारी ने बताया कि मामले की जानकारी आलाधिकारियों को दी गयी। इसके बाद टीम बनाकर जांच पड़ताल हुई। महिला ठग की काल डिटेल को भी खंगाला गया।
 
              सायबर सेल से जानकारी मिली कि महिला ठग की मोबाइल सिम किसी सुरेखा वर्मा के  नाम पर दर्ज है। पुलिस कप्तान के निर्देश पर सुरेखा वर्मा नामक महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। महिला को कार्यापालिक दण्डाधिकारी के सामने पेश किया गया। पहचान परेड कराया गया। पीड़ितों ने सुरेखा वर्मा को ही सविता गिरी गोस्वामी ऊर्फ गुड्डी ऊर्फ सुरेखा वर्मा होना बताया। पीड़ितों ने कार्यपालिक दण्डाधिकारी समेत पुलिस को जानकारी दी कि इसी महिला ने ही नौकरी लगाने का झांसा देकर लाखों रूपए लिए हैं।
     
            पहचान परेड के बाद महिला को आईपीसी की धारा 420 के आरोप में गिरफ्तार किया गया। महिला ठग को  न्यायिक रिमाण्ड पर जेल दाखिल कराया गया।  महिला की गिरफ्तारी और जांच पड़ताल में तारबाहर थाना प्रभारी परिवेश तिवारी. सायबर प्रभारी मोहम्मद कलीम , उप निरीक्षक मनोज नायक,सहायक उप निरीक्षक भरत लाल राठौर आरक्षक तदवीर नवीन एक्का, मनोज बघेल का विशेष प्रयास रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *