मेरा बिलासपुर

पढ़ें…क्यों पकड़ाया दलाल रामास्वामी मुत्तू…क्या है साढ़े 3 लाख का मामला..चापड़ के साथ पुलिस ने किसे धर दबोचा

आरोपी ने ळाखों रूपए लेकर फर्जी नियुक्त पत्र थमाया

बिलासपुर— सरकन्डा पुलिस ने रेवले में नौकरी दिलाने के नाम पर साढ़े तीन लाख रूपयों की ठगी के आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी को आईपीसी की धारा 420 के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है। पुलिस टीम ने एक अन्य मामलें में चापड़ लहराकर आम जनता को भयभीत करने वाले आरोपी को भी धर दबोचा है। दोनो ही मामलों में पकड़े गए आरोपियों पर विधिवत कार्रवाई की गयी है। आरोपियों को न्यायालय के हवाले कर जेल दाखिल कराया गया है। 
 
                 सरकन्डा थानेदार फैजूल शाह होदा ने बताया कि रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले आरोपी रामास्वामी मुत्तू सुब्रमन्यम को गिरफ्तार किया गया है। मामले में बरपारा कोनी निवासी अनुराग पाण्डेय की शिकायत पर कार्रवाई की गयी है। पीड़ित ने रिपोर्ट दर् कराया था कि रामास्वामी ने रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर साढ़े तीन लाख रूपए दिया। इसके बाद उसने फर्जी नियुक्त पत्र थमा दिया।
 
 थाना प्रभारी के अनुसार अनुराग पाण्डेय ने बताया कि रामास्वामी मुत्तू सुब्रमण्यम ने रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर 3,50000 रूपए लिया। इसके बाद आरोपी फर्जी नियुक्ति पत्र थमाकर धोखधडी को अंजाम दिया। शिकायत पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की 420 का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया।
  रिपोर्ट को वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाया गया। मामले को तत्काल विवेचना में लेकर आरोपी की पतासाजी शुरू हुई। आरोपी की घेराबन्दी कर उसके निवास विजयापुरम कालोनी से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी फर्जीवाड़ा का जुर्म कबूल किया। गिरफतार कर न्यायालय में पेश किया गया। 
 
चापड़ के साथ आरोपी गिरफ्तार
थाना प्रभारी सरकंडा फैजुल होदा शाह के अनुसार मखबीर ने बताया कि शीला बिहार के सार्वजनिक स्थान पर एक व्यक्ति धारदार चापड लहरा रहा है। आरोपी की गतिविधियों से आम जनता भयभीत है। सूचना पर त्वरित कार्यवाही कर पुलिस टीम ने आरोपी विश्वकर्मा दास मानिकपुरी को धर दबोचा। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बसंत विहार कालोनी निवासी होना बताया। आरोपी के कब्जे से एक  धारदार चापड़ जब्त किया गया। आरोपी के खिलाफआर्म्स एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

अधिकारियों की कार्रवाई पर रेत चोरों का सूचना तंत्र भारी..सफेदपोशों का भी मिल रहा आशीर्वाद ..शासन का सहयोग करना ग्रामीण को पड़ा भारी
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS