एसईसीएल में उमंग से मनाया गया गणतंत्र दिवस.. शहीदों और खनिकों को मुख्य अतिथि ने किया याद.सालाना उपलब्धियों को सिलसिलेवार गिनाया

Coal India Logo

बिलासपुर—एसईसीएल मुख्यालय में 73वाॅं गणतंत्र दिवस हर्षाल्लास के साथ मनाया गया।  मुख्य अतिथि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने ध्वजारोहण किया। सुरक्षा टुकड़ी की सलामी ली। सुरक्षा टुकड़ी का नेतृत्व व्ही दक्षिणामूर्ति उप प्रबंधक (सुरक्षा) बिलासपुर ने किया।

                           मुख्य अतिथि निदेशक ए.पी. पण्डा ने इस अवसर पर सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि एसईसीएल ने समग्र रूप से इस साल पूँजीगत व्यय का 4675 करोड़ लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास के साथ ही इकाॅनाॅमी में लिक्विडिटी इन्फ्यूज ;स्पुनपकपजल प्दनिेमद्ध करने में सहायक होगा। इसके अंतर्गत कम्पनी की स्टेट ऑफ दी आर्ट, फस्र्ट माईल कनेक्टिीविटी परियोजनाएँ विकसित की जा रही हैं।

           एफएमसी की इको फ्रेण्डली 9 परियोजनाओं के जरिए कम्पनी की 6 खदानों से अतिरिक्त रूप से 60 से 70 मिलियन टन कोयले के डिस्पैच की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। कोल डिस्पैच के लिए तेजी से विकसित हो रही एसईसीएल की रेल काॅरीडोर परियोजनाएँ कंपनी और अंचल के लिए प्रगति के नए दरवाजे खुलेंग।

          मुख्य अतिथि ने अपने भाषण में बताया कि 15 नवंबर को छत्तीसगढ़ ईस्ट रेल लिमिटेड के घरघोड़ा फ्रेट टर्मिनल से पहला कोल रेक लोड किया गया। गेवरा-पेन्ड्रा रोड की 135 किलोमीटर लम्बी ईस्ट-वेस्ट रेल काॅरीडोर के विभिन्न सिविल कार्यों पर भी कार्य आरंभ हो चुका है।एसईसीएल
सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भी निवेश कर रहा  है। भटगांव और विश्रामपुर क्षेत्र के चिन्हांकित भूमि पर 40 मेगावाट परियोजना स्थापना की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं।

                पण्डा ने बताया कि कम्पनी विभिन्न क्षेत्रों में 2 हजार किलोवाट क्षमता के रूफटाॅप सोलर पैनल के स्थापना के लिए भी अनुबंध फाईनल कर चुकी है। विभिन्न एरिया में चार्जिंग स्टेशन की सुविधा सहित इलेक्ट्रिक व्हीकल के उपयोग की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। नई तकनीक का विस्तार करते हुए हसदेव क्षेत्र के बेहराबांध एवं बिश्रामपुर क्षेत्र के गायत्री भूमिगत खदान में कान्टिन्यूअस माईनर लगायी जा रही है।

              गणतंत्र दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ने शहीद स्मारक और खनिक प्रतिमा पर पुष्पांजलि दिया। डाॅ. भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया । इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन सह कार्मिक) एम. के. प्रसाद एवं निदेशक (वित्त) एस.एम. चैधरी, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एस.के. पाल, एसईसीएल संचालन समिति सदस्य हरिद्वार सिंह उपस्थित थे।

              कार्यक्रम के दौरान महाप्रबध्ंाक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के.सक्सेना, विभिन्न विभागाध्यक्ष, विभिन्न श्रमसंघ प्रतिनिधि, सीएमओएआई, ऑल इण्डिया एसएसटी ओबीसी कोआर्डिनेशन कौंसिल, कोलइण्डिया एससी-एसटी एम्पालई एसोसिएशन के प्रतिनिधियों की विशेष उपस्थिति रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *