छत्तीसगढ़ में भी इसी सत्र में हो पुरानी पेंशन की बहाली, भूपेश सरकार के बजट से पहले लामबंद हुए कर्मचारी, राजस्थान में ऐलान के बाद जगी उम्मीद

रायपुर। राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री ने अपने बजट भाषण में पुरानी पेंशन बहाली की घोषणा की है जो सराहनीय पहल है, NOPRUF ने राजस्थान सरकार के इस कदम की सराहना की है।राजस्थान सहित देश के सभी राज्य गत कई वर्षों से पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर NOPRUF के बैनर तले अपनी आवाज बुलंद करते आ रहे हैं.राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव वीरेंद्र दुबे ने बताया कि राजस्थान में पुरानी पेंशन की घोषणा होने से छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों में भी आशा की एक किरण दिखाई दे रही है। निश्चित तौर पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी इसी बजट सत्र में पुरानी पेंशन को पुनः बहाल कर करने की घोषणा कर के सभी नए पेंशन योजना के कलंक को समाप्त करने का काम करेंगे।

वीरेंद्र दुबे ने आगे बताया की राजस्थान में यह योजना लागू होने से 2004 से नियुक्त सभी कर्मचारियों को इसका लाभ होगा रिटायरमेंट के बाद अपनी बाकी जीवन अच्छे से व्यतीत कर पाएंगे । नई पेंशन योजना लागू होने के बाद से ही सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को नाममात्र की पेंशन ही मिल पाती थी, जिससे रिटायर कर्मचारी अपने परिवार को चलाने में कई कठिनाइयां का सामना करते है।

वीरेंद्र दुबे ने बताया कि मौका और समय की नजाकत को देखते हुए छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अपने जनघोषण पत्र में पुरानी पेंशन बहाली की घोषणा की थी। परंतु आज पर्यंत शासन ने घोषणा नही की है।छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भी पुरानी पेंशन पुनः लागू कर राज्य के कर्मचारियों को सौगत प्रदान कर सकते है।राजस्थान में मिली इस सौगात के लिए इस सफलता पर NOPROF के सदस्यों एवं समस्त कर्मचारियों को शुभकामनाएं दी गई है। प्रदेश के कर्मचारियों नेताओ में

प्रांतीय कार्यकारी अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी,प्रांतीय उपाध्यक्ष सुनील सिंह,डॉ.सांत्वना ठाकुर,विष्णु शर्मा,सहसचिव सत्येंद्र सिंह,सन्गठन मंत्री विवेक शर्मा,प्रदेश प्रवक्ता गजराज सिंह,जितेंद्र शर्मा,जितेंद्र गजेंद्र,राजेश शर्मा, घनश्याम पटेल,अतुल अवस्थी,अजय वर्मा,गोविंद मिश्रा, जिलाध्यक्षगण प्रहलाद जैन,शिवेंद्र चंद्रवंशी, सन्तोष मिश्रा,दिनेश राजपूत, कुलदीप सिंह,शैलेष सिंह, प्रदीप पांडेय, रवि मिश्रा, संतोष शुक्ला, विनय सिंह, हिमन कोर्राम, दीपक वेंताल, भोजराज पटेल,भानु प्रताप डहरिया,यादवेंद्र दुबे, उपेंद्र सिंह,जोगेंद्र यादव,विनय सिंह, सर्वजीत पाठक, ओमप्रकाश खैरवार,कैलाश रामटेके,कृष्णराज पांडेय,करनैल सिंह,श्री मती शशि कठोलिया,अब्दुल आसिफ खान,विक्रम राजपूत, गौतम शर्मा, शर्मा,अमित सिन्हा,द्वारिका भारद्वाज,दिनेश साहू आदि ने उम्मीद जताई है कि छत्तीसगढ़ राज्य शासन भी इसी बजट सत्र में पुरानी पेंशन बहाल हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *