किसान की निर्मम हत्या..घटना को अंजाम देने से पहले चारों ने छाना शराब..लाश को 1 किलोमीटर तक घसीटा

बिलासपुर—- सीपत थाना क्षेत्र के ग्राम पोंडी में पुरानी रंजिश को लेकर पड़ोसी ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर युवक को मौत के घाट उतार दिया। मामले में मुख्य आरोपी समेत 2 लोगो को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस फरार 2 आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। 
 
                      सीपत थाना क्षेत्र के ग्राम पोड़ी का है। एनटीपीसी सीपत में ठेका कंपनी के अंदर काम करने वाले दिनेश धीवर पिता घनाराम धीवर उम्र 40 वर्ष शनिवार की शाम कर्मा रोड स्थित अपने खेत में घांस काटने गया था। सूरज ढलने के  बाद शाम 6 बजे घांस लेकर घऱ लौट रहा था। इसी दौरान पहले से घात लगाकर बैठा उसका पड़ोसी अश्वनी धीवर समेत साथी ओमप्रकाश यादव,कलाम खान और  रसूल खान ने हंसिया छीनकर दिनेश के गर्दन पर वार कर दिया। गर्दन नहीं कटने पर आरोपियों ने रस्सी से दिनेश का गला घोंट दिया।
 
                         गला घोटने के बाद आरोपियों ने दिनेश के चेहरे और गर्दन पर हँसिया से ताबड़तोड़ हमला किया। दिनेश की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद आरोपियों ने मृतक के दोनों पैर को उसी के गमछे से बांधा।  और घसीटते हुए घटना स्थल से  करीब 1 किमी दूर ले गए। इस बीच परिजनों के साथ ग्रामीणों के पहुचने पर सभी आरोपी मृतक को छोड़कर फरार हो गए।
 
साक्ष्य छुपाने लाश को नदी में फेकने की थी तैयारी
 
            आरोपी जगदीश धीवर ने पुलिस को बताया की दिनेश को मारने के बाद सबूत मिटाने के उद्देश्य से ग्राम मंजूरपहरी के बहती नदी में फेकने की तैयारी थी । लेकिन मृतक को ढूंढने उनके परिजनों के साथ बड़ी संख्या में गांव वाले खेत की ओर पहुच गए थे । टार्च की रोशनी को देखकर पकड़े जाने के डर से घटना स्थल से 1 किमी दूर खेत के मेढ़ पर लाश को छोड़कर भाग गए
 
गुमराह करने 1 किमी दूर नवागांव रोड पर छोड़ा
 
          जिस सायकिल से मृतक दिनेश घांस काटने अपने खेत गया था। उसी साइकिल को आरोपियों ने घटना स्थल से 1 किमी दूर नवागांव रोड पर सड़क किनारे खड़ा कर दिया था। ताकि मृतक के परिजन सायकिल के स्थान के आसपास ही दिनेश को ढूंढते रहे। और वे आसानी से लाश को ठिकाने लगा सके। 
 
जगन्नाथपुरी यात्रा से वापस लौटा था दिनेश
 
           मृतक दिनेश बैगा अपने रिश्तेदारों के साथ 4 दिन की यात्रा में जगन्नाथपुरी भगवान के दर्शन करने गया था। उसी दिन उसकी हत्या हुई जिस दिन वह दोपहर 12 बजे गांव लौटा था। खाना खाने के बाद कुछ देर आराम किया। शाम 4 बजे मवेशियों के लिए घांस काटने अपने खेत चला गया था। जहां आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया।
 
घर बनाने के नाम पर हुआ था विवाद
 
      मृतक दिनेश ने दो मंजिला पक्का मकान का निर्माण कराया था।  जिसे लेकर आरोपी अश्विनी धीवर के पिता लक्ष्मीकांत धीवर और मृतक की हमेशा झगड़ा होता था । लक्ष्मीकांत का आरोप था कि मकान की दीवार उसकी जमीन पर उठा दी गई है। विवाद पर डेढ़ माह पूर्व मृतक दिनेश ने अपने भाई के साथ लक्ष्मीकांत से मारपीट कर दिया था। उसी दिन से आरोपी मौके की तलाश में था। और वह शनिवार को मिला।
 
आरोपियों ने शराब पीकर दिया घटना को अंजाम
 
          पिता से मारपीट का बदला लेने के लिए आरोपी अश्वनी धीवर ने अपने पड़ोसी मित्र ओमप्रकाश यादव और ठरकपुर पंचायत के ग्राम खैरवारपारा के कलाम खान, रसूल खान (महेतरु) दोनों भाइयों के साथ मिलकर पहले खूब शराब पीया। मुख्य आरोपी अश्विनी ने पिता का बदला लेने अपने साथियों के साथ घटना को अंजाम दिया। सीपत पुलिस ने आरोपी अश्वनी धीवर, ओमप्रकाश यादव को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि कलाम खान और रसूल खान (महेतरु) दोनों भाई अब भी फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *