भारत जोड़ो यात्रा की एंट्री से पहले ही सूबे की सियासत तेज

भारत जोड़ो यात्रा का राजस्थान में एंट्री से पहले ही सूबे की सियासत तेज हो गई है. एक तरफ जहां मध्यप्रदेश में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से सचिन पायलट ने मुलाकात की है. तो दूसरी तरफ राजस्थान बीजेपी नेता और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने दावा किया है कि 8 दिसंबर के बाद राजस्थान में बड़ा उलटफेर होगा. कटारिया ने आशंका जताते हुए कहा कि 8 दिसंबर के बाद बड़ा उलटफेर हो सकता है. लेकिन अशोक गहलोत कभी कुर्सी नहीं छोड़ना चाहेंगे. कटारिया ने कहा कि गहलोत को अगर पद छोड़ना भी पड़ा तो वो पायलट को स्वीकार नहीं करेंगे. 

गुलाबचंद कटारिया ने आगे ये भी कहा कि सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच का विकल्प ढ़ूंढ़ने की कोशिश होगी. और ऐसे में सीपी जोशी भी सीएम बन सकते है. ताकि अशोक गहलोत का काम भी चलता रहे. और राज्य में कांग्रेस की सरकार भी बनी रहे.दरअसल 8 दिसंबर को गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा के चुनाव परिणाम घोषित होने है. इन चुनाव परिणामों के बाद राजस्थान की राजनीति में कई बदलाव होने को लेकर विश्लेषक अनुमान लगा रहे है. इसी बीच बीजेपी नेता गुलाबचंद कटारिया जिनका राजस्थान की राजनीति में लंबा अनुभव रहा है.

उन्हौने ये बयान दिया है कि इन दो राज्यों के चुनाव परिणामों के बाद राजस्थान में किसी भी तरह का बड़ा बदलाव हो सकता है. हालांकि 8 दिसंबर के बाद अगले करीब 15 दिनों तक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा भी राजस्थान में होगी. ऐसे में भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान में रहते हुए कांग्रेस पार्टी इतना पड़ा राजनीतिक बदलाव का फैसला ले इस बात की संभावना कम ही है. ऐसे में गुलाबचंद कटारिया के इस बयान को लेकर यही माना जा रहा है कि भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान में आने से पहले और बीजेपी की जन आक्रोश यात्राओं के मद्देनजर कटारिया ने कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति पर इस तरह का बयान दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *