SECL ने मनाया स्थापना दिवस…CMD ने दी बधाई…कहा…कम्पनी ने लिखी विकास की नई ईबारत…अम्बेडकर को किया याद

बिलासपुर— रविवार को वसंत विहार स्थित रविन्द्र भवन के टैगौर हाल में गरिमामयी कार्यक्रम के दौरान एसईसीएल ने अपना स्थापना दिवस मनाया। इस दौरान अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा, निदेशक (कार्मिक) डाॅ.आर.एस. झा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, पूर्व निदेशक तकनीकी  एल.के. श्रीवास्तव, सीएल श्रीवास्तव, पूर्व निदेशक (कार्मिक) आर.एस. सिंह, एसईसीएल संचालन समिति के नाथूलाल पाण्डेय (एचएमएस), जे.एस.सोढ़ी (सीटू),  अवधराज सिंह (बीएमएस), के. पाण्डेय (सीएमओएआई), एसईसीएल कल्याण बोर्ड के बजरंगी शाही (एचएमएस), समेत गणमान्य जनप्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद थे।
                    कार्यक्रम में अजय विश्वकर्मा (एटक), एसईसीएल सुरक्षा समिति के बी. धर्माराव (एटक), व्ही.एम.मनोहर (सीटू), संजय शर्मा (बीएसमएस),  गौरीशंकर प्रसाद (सीएमओएआई) और  विभिन्न क्षेत्रों से आए अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय नागरिकगण विशेष रूप से मौजूद थे।
             मुख्य अतिथि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने उपस्थित लोगों को स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होने अपने संबोधन में कहा कि बदलते समय के साथ राष्ट्रहित में ऊर्जा आवश्यकताओं की आपूर्ति की दिशा में एसईसीएल का महत्वपूर्ण योगदान है। कम्पनी उत्पादन के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण और सतत धारणीय विकास, नयी तकनीक के जरिए कार्यकुशलता का परिचय दिया है।  पारदर्शिता में वृद्धि, सीएसआर के जरिए सामाजिक उत्थान, खदानों से निकले जल के समुचित उपयोग के माध्यम से उत्कृष्ठ योजनाओं को आगे बढ़ाया है। जवाबदेहीपूर्ण खनन गतिविधियों को अंजाम दिया है।
                         निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा ने एसईसीएल स्थापना दिवस पर बधाई दी। झा ने कहा कि एसईसीएल के कुशल और दक्ष कर्मी हैं।अपने बलबूते पर एसईसीएल हमेशा नंबर-1 कम्पनी रही है। एसईसीएल ने कर्मियों के कल्याण, सुरक्षा और क्षेत्रों के विकास के लिए कार्य किया जाता है। हमारा प्रयास शून्य दुर्घटना लक्ष्य हासिल करना है।
                                       मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा ने कहा कि समयबद्ध तरीके से उत्पादन-उत्पादकता, प्रेषण के लक्ष्य को हासिल करें। कार्यों में पारदर्शिता बनाएॅं रखें। पूर्व निदेशक तकनीकी एल.के.श्रीवास्तव, सीएल श्रीवास्तव और पूर्व निदेशक आर.एस. सिंह ने कहा कि प्रारंभ से ही एसईसीएल की गौरवमयी उपलब्धियाॅं रही हैं। अधिकारी-कर्मचारी सभी की मेहनत और लगन से दिन-प्रतिदिन प्रगति की ओर अग्रसर होते रहें यही कामना है।
             एसईसीएल संचालन समिति के नाथूलाल पाण्डेय (एचएमएस), जे.एस.सोढ़ी (सीटू), अवधराज सिंह (बीएमएस), के. पाण्डेय (सीएमओएआई) और कल्याण बोर्ड के अजय विश्वकर्मा (एटक) ने कहा कि एसईसीएल आज जिस शिखर पर है उसमें मेहनतकश मजदूर भाइयों का श्रम छिपा है।
               कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्य अतिथि एवं समस्त मंचस्थ अतिथियों ने दीप-प्रज्ज्वलन कर कोलइण्डिया कारपोरेट गीत बजाया। दिवंगत खान श्रमिकों के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा गया। उनके योगदान को याद किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समेत विशिष्ट और मंचस्थ अतिथियों, एसईसीएल संचालन समिति, कल्याण समिति, सुरक्षा समिति के सदस्यों का शाल, श्रीफल और पुष्पहार से स्वागत किया गया।
        इसके पहले एसईसीएल मुख्यालय प्रशासनिक भवन प्रांगण में कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, विभिन्न विभागाध्यक्षों, श्रमसंघ प्रतिनिधियों, अधिकारियों-कर्मचारियों की उपस्थिति में शहीद स्मारक’’ पर पुष्पचक्र, डाॅ. बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर प्रतिमा और  खनिक प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाया गया।  मुख्य अतिथि ने कोलइण्डिया ध्वज फहराया, इस दौरान ’’कोलइण्डिया कारपोरेट गीत’’ बजाया गया।
                 इस मौके पर अतिथियों ने कर्मचारियों को क्षेत्र में अहम और स्मरणीय योगदान के लिए सम्मानित भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *