मलिया ने लगाई फटकार…अधिकारियों से कहा…संरक्षा निरीक्षण को गंभीरता लें..

Inspection 1बिलासपुर—रेलवे प्रशासन ने संरक्षा कोटि के कर्मचारियों के बीच संरक्षा के प्रति जागरूकता अभियान चलाया। दुर्घटनाओं की संभावना को रोकने अधिकारियों ने कर्मचारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिया।  और संरक्षा निरीक्षण भी किया।

                             संरक्षा और सुरक्षा के बेहतर प्रयास, दुर्घटनारहित परिचालन के मद्देनजर मंडल रेल प्रबंधक बी.गोपीनाथ मलिया और  अधिकारियों ने संरक्षा निरीक्षण किया। बिलासपुर-झारसुगडा खण्ड और बिलासपुर-कोरबा खण्ड का संरक्षा निरीक्षण किया।

                                                                इस दौरान पटरियों, रेलवे ब्रिज, सिग्नल, इंटरलाॅकिंग, यार्ड, समपार फाटक का बारीकी से निरीक्षण किया। मंडल रेल प्रबंधक मलिया ने जयरामनगर और अकलतरा स्टेशनों के बीच नीलागर नदी पर बने रेलवे ब्रिज का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान ब्रिज पर सपरिवार मोटर सायकिल से आवाजाही कर रहे लोगों से बात की। मलिया ने परिवार की संरक्षा का ध्यान रखने हुए पुल के ऊपर से आवाजाही नही करने की हिदायत दी। उन्होने कहा कि इस प्रकार की आवाजाही से रेलवे अधिनियम के तहत कार्यवाही हो सकती है।

                                                                                        मालूम हो कि बिलासपुर रेल प्रशासन 26 अगस्तको लीलागर ब्रिज पर बिलासपुर-रायगढ मेमू मोटर सायकिल टकरा गयी थी। यद्यपि किसी प्रकार की जनहानि नही हुई लेकिन मोटर सायकिल और रेलवे इंजन क्षतिग्रस्त हुई थी।

टिकट चेकिंग अभियान

पेण्ड्रारोड स्टेशन में किलाबंदी टिकट चेकिंग अभियान चलाया गया। बिना टिकट यात्रा कर रहे यात्रियों पर जुर्माने की कार्यवाही की गयी।  अभियान के दौरान बिना टिकट 85 मामलों से 38 हजार रूपए से अधिक की वसूली हुई। अनियमित टिकट के 62, बिना बुक लगेज के 188, और गंदगी फैलाने के 15 मामले दर्ज किए गए है।

                                 रेल प्रशासन ने कुल 350 मामलों में 77 हजार रूपये बतौर जुर्माना वसूला किया। अभियान में मुख्य वाणिज्य निरीक्षक, टीटीई समेत  आरपीएफ स्टाफ शामिल हुआ। कुल 15 गाडियों में टिकट चेकिंग अभियान चलाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *