कांग्रेस नेता आशीष का नया रूप देख.. भावुक मितानिन हुई मंत्रमुग्ध..संसदीय सचिव भी ताली बजाने को मजबूर..कहा ..खतरे में रहकर लोगों को दिया जीवन

तखतपुर—(टेकचन्द कारड़ा)कांग्रेस नेता आशीष सिंह फिलहाल प्रदेश में किसी परिचय के मोहताज नहीं है। लेकिन इस बात को आज की युवा  पीढ़ी शायद नहीं जानती कि वह अच्छा व्हिसील भी बजाते है। हूब हू..व्हिसिल बजाकर गाना गाना उनका छात्र जीवन में शगल में शामिल था। लेकिन सक्रिय राजनीति में आने के बाद यह प्रतिभा सालों साल किसी को देखने को नहीं मिली। लेकिन तखतपुर में आयोजित मितानिन कार्यक्रम में जिसने भी आशीष सिंह को व्हीसिल के साथ गाना गाते सुना और देखा उसने ना तो अपने कान पर विश्वास हुआ और ना ही आखों पर भरोसा हुआ। ऐसा इसलिए क्योंकि अब तक लोगों को यही मालूम था कि आशीष सिंह कालेज के छात्र नेता के साथ कांग्रेस के बड़े नेता हैं।
 
               जब पूरा देश संक्रमण की मार से लहुलुहान है..इस बीच कहीं से कोई मधुर और जीवन्त धुन सुनाई दी तो कानों में रस घुलने जैसा अहसास होता है। जीहां तखतपुर में आयोजित मितानिन दिवस कार्यक्रम में मितानिनों के सम्मान के दौरान ऐसा कुछ देखने और सुनने को मिला। मंच से स्थानीय विधायक और संससदी सचिव इस दौरान अपने भाषण में मितानिनों के योगदान को जमकर सराहना की। देवरी मॉडल स्कूल में आयोजित अपने कार्यक्रम में रश्मि सिंह ने कहा कि जब पूरा देश कोरोना संक्रमण के चलते घरों में दुबका है। उस समय मितानिनों ने जो सेवा कार्य किया उसे दिनों वर्षो और दशकों तक याद किया जाएगा। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने अपनी परवाह किए बिना लोगों की सेवा की है। मितानीन कार्यकर्ताओं ने घर घर जाकर शासन की योजनाओं को पहुंचाया है। लोगों के बीच कोरोना से बचने की जानकारी दी है। विधानसभा क्षेत्र की मितानीन का जीतना भी सम्मान किया जाए..वह बहुत ही कम है।
 
                     तखतपुर के ग्राम देवरी स्थित माडल स्कूल में आयोजित मितानीन कोरोना वारियर्स सम्मान समरोह में सभी कांग्रेस नेताओं ने दोनो हाथ जोड़कर और ताली बजाकर मितानिनों के प्रयासों की ना केवल सराहना की। बल्कि मुक्त कंठ से सराहा भी। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस सचिव आशीष सिंह ठाकुर का मितानिनों के सम्मान में अलग ही रूप लोगों को देखने को मिला। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में  स्वास्थ्य विभाग की सेवा भावना स्तुति योग्य है। खासकर तखतपुर विधानसभा 464 मितानीनों के योगदान को कोई नहीं भुला पाएगा। मितानिनों ने घर घर जाकर लोगों से कोरोना से बचने और लड़ने का टिप्स दिया।  आशीष सिंह सिंह ने कहा..मितानीनों के योगदान को शब्दों में कहना मुश्किल है। इसके बाद आशीष सिंह जो किया उसे देख लोग हतप्रभ हो गए। सुनने और देखने वालों को विश्वास भी नहीं हुआ कि आशीष सिंह इस हुनर में भी माहिर हैं। उन्होने इस दौरान एक हाथ में माइक तो दूसरे हाथ से सिटी बजाना शुरू किया। और सिटी से उन्होने जो धुन निकाला…उसे सुनकर लोग मंत्रमुग्ध हो गए। खासकर मितानिन काफी भावुक हो गयी। क्योंकि उन्होने तो आशीष सिंह को केवल नेता के रूप में देखा था। आज उन्होने जो देखा..उसे बयान करना उनके लिए मुश्किल था। और उनके बजाए धुन ऐ मेरा दिल प्यार का दिवाना..पर लोग अपने स्थान पर थिरकने लगे।…आप भी सुने आशीष सिंह का व्हीसिल सांग। 
 
                इस दौरान रश्मि सिंह ने मितानिनों का मंच में सम्मान किया। सम्मानित होने वाली सबसे बुजूर्ग मितानीन सोन कुंवर पचबहरा, रुंगती साहू बहुरता,रामरती पेंड्री, हर कुंवर सम्बलपूरी, दुवासिया लिम्हा को मंच में अतिथियों की तरह भाव दिया गया। इसके बाद कार्यक्रम में प्रत्येक मितानीन को साडी और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सभी मितानीनों में खुशी वातावरण देखने को मिला। संसदीय सचिव रश्मि सिंह ने प्रत्येक मीतानिनों से भेंट कर कहा कि उन्हें किसी भी प्रकार  महसूस हो तो तत्काल सम्पर्क करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *