भारी पड़ा ट्रीटमेन्ट प्लान्ट लोकार्पण का विरोध…48 कांग्रेसी गिरफ्तार…3 घंटे बाद तोरवा थाना से रिहा

बिलासपुर– सिवरेज ट्रीटमेन्ट प्लान्ट का आज नगरीय निकाय मंत्री ने लोकार्पण किया। काला झण्डा के साथ लोकार्पण कार्यक्रम का विरोध करने गए कांग्रेसियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर तोरवा थाना भेज दिया। लोकार्पण कार्यक्रम के खत्म होने के करीब 2 घंटे बाद पुलिस ने सभी 36 कांग्रेसियों को निशर्त रिहा कर दिया। इस दौरान कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सिवरेज में भ्रष्टाचार करने का भी आरोप लगाया।

           छत्तीसगढ़ का पहला सिवरेज ट्रीटमेन्ट प्लांट का आज निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने लोकार्पण किया। कांग्रेसियों ने लोकार्पण कार्यक्रम का विरोध किया। दो मुहानी गांव स्थित ढेका ट्रीटमेन्ट प्लान्ट के पास कांग्रेस नेताओं ने काला झण्डा और रिबन दिखाकर कार्यक्रम का विरोध और आक्रोश जाहिर किया। कांग्रेसियों ने कहा कि अधूरे निर्माण का लोकार्पण करने का कोई औचित्य नहीं है।

                     कांग्रेस प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,जिला अध्यक्ष शहर नरेन्द्र बोलर और शेख नजरूद्दीन ने बताया कि सिवरेज के कारण शहर कोमा में है। शहर में गली सड़क चौराहों में गड्ठे ही गड्ढे नजर आ रहे हैं। सिवरेज का काम अभी भी अधूरा है बावजूद इसके अधूरा ट्रीटमेन्ट प्लान्ट का लोकार्पण समझ से परे है।

लोकार्पण के पहले पहुंचे कांग्रेसी

                      ट्रीटमेन्ट प्लान्ट लोकार्पण से पहले ही जिले के सभी कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव,नरेन्द्र बोलर और शेख नजरूद्दीन की अगुवाई में दोमुहानी पहुंच गए। इस दौरान कांग्रेसियों ने हाथ में काला झण्डा और बाह में रिबन बांधकर विरोध किया। सरकार और मंत्री के खिलाफ IMG-20180103-WA0014जमकर नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेस नेता प्रदेश सचिव महेश दुबे, पंकज सिंह कार्यकारिणी सदस्य शेख गफ्फार भी मौजूद थे। काग्रेस पार्षदों ने भी ट्रीटमेन्ट प्लान्ट लोकार्पण का विरोध किया।

            इसके पहले सभी कांग्रेसी कांग्रेस भवन से रवाना होकर कार्यक्रम स्थल पहुंचे। तोरवा पुलिस ने कांग्रेसियों के काफिले को देवरीखुर्द पुलिस चौकी के पास बैरिकेट लगाकर रोक दिया। इस दौरान पुलिस और कांग्रेसियों के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। पुलिस ने कांग्रेस नेताओं समेत सभी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर बस से तोरवा थाना भेज दिया। लोकार्पण कार्यक्रम के करीब दो घंटे बाद बिलासपुर तहसीलदार देवी सिंह उइके ने सभी 48 कांग्रेसियों को नीजि मुचलके पर निःशर्त रिहा किया।

               शहर कांग्रेस के प्रवक्ता ऋषि पाण्डेय ने बताया कि इसके पहले चिल्हाटी में आधे अधूरे सीवरेज प्लाट का लोकार्पण किया गया। जिसका खामियाजा जनता आज भी भुगत रही है। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि चुनाव नजदीक आते ही आनन-फानन में अधूरे कार्यो का लोकार्पण किया जा रहा है। सड़कों का तेजी से डामरीकरण हो रहा है। जहां नाली की जरूरत नहीं वहां नाली का निर्माण किया जा रहा है। नेताओं ने कहा कि कांग्रेस भविष्य में भी सारे पोल को जनता के सामने रखेगी।

                          धरना और विरोध प्रदर्शन में अभय नारायम राय, जसबीर गुम्बर, पार्षद शैलेन्द्र जायसवाल, निर्मल मानिकपुरी, अखिलेश श्रीवास, अखिलेश बाजपेयी, एस.डी. कार्टर, नामा बघेल, दीपांशु श्रीवास्तव, अमित दुबे, पंचराम सूर्यवंशी, जावेद मेमन,  राकेश सिंह, कमलेश दुबे,विनोद साहू, अरविन्द शुक्ला, देवरीखुर्द उपसरपंच ब्रम्हदेव सिंह, शहर सचिव मोहम्मद हाफिज खान, राकेश हंस, अब्दुल खान, बद्री यादव, सुभाष ठाकुर, समेत कई नेता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *