निजी जमीन बेचकर..निस्तारी जमीन पर कब्जा..जनदर्शन तक पहुंची शिकायत..आरोपी के हौसले बुलन्द..चिंगराजपारा का मामला

बिलासपुर—तत्कालीन स्थानीय पटवारी से सांठगांठ कर सड़क की सरकारी जमीन के कुछ हिस्से को घेरकर दूकान बनाने वाले के खिलाफ स्थानीय लोगों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। मामला चिंगराजपारा भरत चौक का है। स्थानीय लोगों ने बताया कि बोधी साहू ने जीना मुश्किल कर दिया है। पटवारी तहसीलदार और जोन कमिश्नर और कलेक्टर से शिकायत के बाद भी बोधी साहू को सरकारी सड़क की जमीन से नहीं हटाया गया है। जिसके चलते रास्ता सकरा हो गया है। और लोगों को आने जाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

चिंगराजपारा भरत चौक निवासियों ने बताया कि पिछले की महीनों से बोधी साहू ने जीना मुश्किल हो गया है। नाक रगड़ने के बाद भी ना तो शासन सुन रहा हौ और ना ही शिकायतों को गंभीरता से लिया जा रहा है। चिंगराजपारा शहर की पुरानी बसाहट है। मोहल्ले से निकलने वाली सड़क भरत चौक को सीपत मुख्य मार्ग से जोड़ती है। रास्ता बहुत सकरा है..बावजूद इसके स्थानीय एक व्यक्ति ने सरकारी जमीन पर कब्जा कर सड़क को सकरा बना दिया है। जिसके चलते आए दिन हादसे की स्थिति बनी रहती है।

 कालोनीवासयों के अनुसार सड़क किनारे खसरा नम्बर 511/4 में बोधी साहू की पांच डिसमिल जमीन है। दो डिसमिल जमीन पर घर है। जबकि तीन डिसमिल जमीन बोधी ने अलग अलग लोगों को बेच दिया। एक रात बोधी ने मोहल्ले की सरकारी निकासी जमीन को घेरकर दूकान बनाना शुरू कर दिया। निर्माण के खिलाफ लोगों ने थाना पहुंचकर घेराव किया। तहसीलदार में लिखित शिकायत दर्ज कराया गया। कलेक्टर जनदर्शन में फरियाद लगाने के बाद भी अब तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहींर हुई है।

निस्तारी जमीन पर बनाया दूकान

स्थानीय लोगों के अनुसार बोधी साहू ने अपनी जमीन बेचने के बाद सड़क की सरकारी जमीन पर कब्जा किया है। जिसके चलते सड़क बहुत ही सकरी हो गयी। लोगों को आने जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कार्रवाई नहीं होने से बोधी के हौसले बुलन्द है। खुलेआम अधिकारियो और पुलिस को खरीदने की बात करता है।

गंभीरता से लेंगे शिकायत

मामले में एसडीएम पीयूष तिवारी ने बताया कि किसी भी सूरत में किसी के साथ गलत नहीं होगा। सीमान्कन कार्रवाई कर समस्या का निराकरण किया जाएगा। निस्तारी जमीन पर कब्जा पाए जाने हटाया भी जाएगा।

                   

Back to top button
close