राज्य कर्मचारी संघः अचानक हड़ताल ख़त्म करने के फैसले पर हुई यह बात…

Officer employees will go on indefinite strike from 22, federation is preparing,From 25 to 29, there will be pen-off, work-off strike,warehouse workers on strike,chhattisgarh,news,cg news,hindi news,सरकारी ,दफ्तर, निगम, मंडलों,हजारों कर्मचारियों , नियमित, मांग ,राजधानी ,धरना प्रदर्शन,शिक्षक पंचायत,बस्तर,शिक्षामंत्री.धरना प्रदर्शन,शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा,प्रान्तीय संचालक विकास सिंह राजपूत,नवीन शिक्षाकर्मी संघ,प्रदेशाध्यक्ष व शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा

रायपुर :। राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक मंगलवार को संघ के प्रदेश कार्यालय रायपुर में संपन्न हुई ।इस अवसर पर बैठक के मुख्य अभ्यागत राष्ट्रीय राज्य कर्मचारी महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री विष्णु वर्मा थे। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार तिवारी ने की। बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अमर श्रीवास्तव मौजूद थे। बैठक में कई प्रस्ताव पारित किए गए।

प्रेस नोट के माध्यम से मिली जानकारी के मुताबिक राज्य कर्मचारी संघ ने जो प्रस्ताव दिए है, उसके अनुसार सबसे पहले क्रम में महंगाई भत्ता एवं गृह भाड़ा को लेकर 12 दिवसीय अनिश्चितकालीन कालीन हड़ताल के अचानक खात्मे पर प्रदेश संगठन सचिव बोधी राम निषाद, प्रदेश उपाध्यक्ष वंदना मिश्रा, हरि सिंह राणा, रिखी राम साहू, प्रदेश प्रचार सचिव छवि सिंग, प्रदेश सचिव डा विनोद वर्मा, प्रदेश कोषाध्यक्ष टी आर देवांगन, धमतरी जिला अध्यक्ष खुमान सिंह , रायपुर जिला अध्यक्ष ओमपाल सहित सभी सदस्यों ने आक्रोश व्यक्त किया । प्रदेश महामंत्री अश्वनी चेलक ने मांग पूरी नहीं होने के ब़ावज़ूद फेडरेशन संयोजक के निर्णय को जल्दी बाजी क़ा निर्णय बताया। सदस्यों के द्वारा प्रदेश के कर्मचारी अधिकारी के विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु शासन प्रशासन को ध्यान आकर्षित कराते हुए निदानात्क पहल कराने पर मतैक्यता बनी है।

राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक 9 सूत्रीय एजेंडा सामने आया है जो इस प्रकार है । ज़िसमें
1.विभिन्न विभागों में लंबित पपदोन्नति शीघ्रता शीघ्र किया जावे।
2.पटवारियों को कार्य सुगमता से निपटाने के लिये संसाधन की व्यवस्था किया जाए।
लैपटॉप के बगैर उनके अधिकांश कार्य पेंडिंग हो जाते हैं अतः उन्हें लैपटॉप प्रदान किया जाए
3.कर्मचारियों की पेंशन की गणना नियुक्ति दिनांक से होनी चाहिए। संविलियन दिनांक से गणना करने पर प्रदेश के आम कर्मचारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा और वृद्धावस्था में उन्हें परेशानियों का सामना भी करना पड़ेगा।
4.प्रदेश के कार्यभारित कर्मचारियों के विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु चर्चा हुई।
5.लिपिको के वेतन विसंगति आज तक बरकरार है इसे शीघ्रता शीघ्र दूर करने की आवश्यकता पर बल दिया गया ।
6.शिक्षा विभाग में तृतीय समयमान के प्रकरण को अनावश्यक रुप से रोके जाने पर आक्रोश व्यक्त किया गया।
7 पशु चिकित्सा विभाग स्वास्थ्य विभाग की समस्याओं के साथ नवनियुक्त कर्मचारियों को पूर्ण वेतन नहीं देने एवं परविक्षा अवधि तीन वर्ष करने पर नाराजगी व्यक्त की गई ।

महामंत्री अश्वनी चेलक ने पत्र लिखकर संघ की मांगों के निराकरण कराने की बात कही । राष्ट्रीय महामंत्री विष्णु वर्मा ने नवंबर में राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक पर चर्चा करते हुए अभ्यास वर्ग संपादित कराने की बात कही ।10, 11 एवं 12 नवम्बर को यह रायपुर में संपन्न होगा प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार तिवारी ने पदाधिकारियों को आह्वान करते हुए कहा सितंबर तक प्रदेश के शेष बचे विकास खंडों में विकास खंड प्रमुख तैनात कर दिए जाने। प्रदेश के सभी 146 विकास खंडों में हमारे प्रतिनिधि होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.