बिलासपुर मिशन स्कूल के स्टूडेन्ट रहे,अजय सिंह बन गए चीफ सेक्रेटरी,शहर से जुड़ी हैं कई यादें..

ajay_singh_newरायपुर/बिलासपुर।छत्तीसगढ़  के सीनियर आईएएस अफसर अजय सिंह नए चीफ सेक्रेटरी बन गए हैं। उनका नाता बिलासपुर से भी रहा है। एक तो उनका परिवार अविभाजित बिलासपुर जिले के एक गाँव से जुड़ा रहा। दूसरी और अहम् बात यह है कि अजय सिंह की स्कूली शिक्षा बिलासपुर के मिशन हाई स्कूल में हुई है और 80 के दशक में हुई मेट्रिक परीक्षा में अविभाजित मध्यप्रदेश में उन्होने टॉप किया था।नए सीएस अजय सिंह का पैतृक गाँव अविभाजित बिलासपुर जिले के पथरिया ब्लॉक अंतर्गत सिलदहा के पास बेलखुरी है। अब यह मुंगेली जिले में आता है। उनका परिवार पिछले काफी समय से बिलासपुर के राजेन्द्रनगर में रहता है। अजय सिंह की स्कूलिंग बिलासपुर में ही हुई है। वे बृहस्पति बाजार के सामने स्थित मिशन हायर सेकेन्ड्री स्कूल के स्टूडेन्ट रहे  हैं। यहां पढ़ते हुए उन्होने 1976  मे 11 वीं की परीक्षा दी थी। उस समय 11 वीं परीक्षा हायर सेकेन्ड्री स्कूल परीक्षा कहलाती थी। अपनी इस परीक्षा में अजय सिंह ने पूरे मध्यप्रदेश में सबसे अधिक नंबर लेकर टॉप किया था।

IMG-20180111-WA0001अजय सिंह उच्च शिक्षा के लिए बाहर चले गए।उन्होने बी.टेक. ( इलेक्ट्रिकल) में पढ़ाई के लिए आईआईटी दिल्ली में दाखिला लिया।इसके बाद उन्होने यहीं से कम्प्यूटर टेक्नालॉजी में एम.टेक. भी किया। बाद में उन्होने मेनचेस्चर युनिवर्सिटी यू.के. से इनामिक्स में एम. ए. भी किया। 1983 में पहले प्रयास में ही अजय सिंह आईएएस बन गए। तब से अविभाजित मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ बनने के बाद से  अपने राज्य में सेवाएँ दे रहे हैं। उन्होने कई प्रशासनिक पदों पर जिम्मेदारी संभाली है। 4 अक्टूबर 2013 से अजय सिंह एग्रीकल्चर प्रोडक्शन कमिश्नर( ए पी सी )- ए सी एस के पद पर रहे। अब उन्हे छत्तसीगढ़ सरकार में चीफ सेक्रेटरी की कमान सौंपी गई है। उनकी जन्म की तारीख 12 फरवरी 1960 है । इस तरह फरवरी 2020 में वे रिटायर होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *