माह में कम से कम दो बार प्राचार्य, प्रधानपाठक सहित अभिभावकों की बैठक लें

धमतरी/ ’गढ़बो नवा छत्तीसगढ़’ के तहत परिणाम मूलक उद्देश्य, जमीन स्तर पर शैक्षणिक गुणवत्ता सुधार और मॉनिटरिंग के लिए माह में कम से कम दो बार प्राचार्य, प्रधानपाठक सहित पालकों की बैठक लेने पर कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने बल दिया है। साथ ही पहली से बारहवीं तक की कक्षाओं की सतत् मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए है। आज सुबह 9.30 बजे से आहूत स्कूल शिक्षा विभाग की साप्ताहिक बैठक में कलेक्टर ने आंगनबाड़ी से बालवाड़ी, बालवाड़ी से प्राथमिक स्कूल जाने वाले बच्चों पर विशेष निगाह रखने भी निर्देशित किया है, ताकि कोई भी बच्चा शिक्षा के अधिकार से वंचित ना रहे। इसी तरह प्राथमिक से माध्यमिक और माध्यमिक से हाईस्कूल और हायर सेकेण्डरी पहुंचने वाले बच्चों का शाला प्रवेश हो, इसकी भी मॉनिटरिंग करने और स्कूलों में भेजने के लिए अभिभावकों को प्रेरित करने पर जोर दिए।  बैठक में कलेक्टर ने स्कूलों में शिक्षक और विद्यार्थी के अनुपात की जानकारी ली। उन्होंने विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी और स्त्रोत समन्वयकों को विद्यार्थियों को ए,बी,सी,डी श्रेणी में विभक्त कर कमजोर विद्यार्थियों के अभिभावको को बैठक में बुलाकर चर्चा करने पर विशेष जोर दिया।

स्कूलों में अधोसंरचना की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने शौचालय, पेयजल, विद्युत, रैम्प, बाउण्ड्रीवॉल इत्यादि की जानकारी ली। उन्होंने स्कूलों में बालक और बालिका के शौचालय अलग-अलग और व्यवस्थित हों, इसका विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। स्कूल भवन मरम्मत अथवा नए भवन बनाने की कार्रवाई डीएमएफ मद से की जाएगी। कलेक्टर ने इसके लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत और विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों को प्राक्कलन तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत प्रियंका महोबिया, एडीएम श्री ऋषिकेश तिवारी, ज़िला शिक्षा अधिकारी डॉ रजनी नेल्सन और स्कूल शिक्षा एवं संबद्ध विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *