मेरा बिलासपुर

तालागांवःछंदशाला के पारिवारिक मिलन में वनभोज

बिलासपुर । बिलासपुर की साहित्यिक संस्था '' छंदशाला " का पर्यटन नगरी तालागांव में पारिवारिक मिलन व वनभोज का कार्यक्रम हर्षोल्ल्लास सम्पन्न हुआ। इसमें छंदशाला के रचनाकारों सहित उनके परिवार के लोग भी शामिल हुए जिससे यह भ्रमण कार्यक्रम आत्मीय मिलन का कार्यक्रम बन गया । 
            स्वल्पाहार के बाद इस अविस्मरणीय भ्रमण कार्यक्रम में रचनाधर्मी तालागांव के इतिहास से भी परिचित हुए ।मंदिरों के दर्शन पश्चात प्रथम सत्र में काव्य गोष्ठी रखी गई जिसकी अध्यक्षता दामोदर मिश्रा जी ने की ।इसमें विजय तिवारी ,शैलेंद्र गुप्ता ,बुधराम यादव ,ओमप्रकाश भट्ट ,अमृतलाल पाठक ,अशरफी लाल सोनी , सतीश पांडे ,विनय पाठक , गजानंद पात्रे ,डॉ .सुनीता मिश्रा ,कामना पांडेय ,सुषमा पाठक ,मनीषा भट्ट , सुनीता वर्मा ने काव्यपाठ कर वाहवाही बटोरी ।काव्यगोष्ठी के पश्चात वनभोज ग्रहण किया गया। द्वितीय सत्र में मनोरंजक खेल , हाऊजी और गीत गायन का कार्यक्रम रखा गया जिसमें विजयी प्रतिभागियों को आकर्षक पुरस्कार भी दिये गये ।
       अध्यक्षीय उद्बोधन में दामोदर मिश्रा ने इस आयोजन को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि इस यात्रा से 'छंदशाला' की उपलब्धियों में एक और अध्याय जुड़ गया ।आपको बता दें कि वैश्विक आपदा काल में छंदबध्द रचनाओं को सीखने के उपक्रम से शुरू हुई यह शाला छंदबध्द रचनाओं के प्रकाशन और आत्मीय पारिवारिक मिलन तक जा पहूंची है। 
     इस आयोजन के सूत्रधार छंदशाला की संयोजिका डॉ सुनीता मिश्रा, मार्गदर्शक विजय तिवारी, कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र गुप्ता और मयंकमणि दुबे रहे । कार्यक्रम का सफल संचालन नीतेश पाटकर ने और आभार प्रदर्शन डॉ .सुनीता मिश्रा ने किया ।
  सर्वश्री अमृतलाल पाठक, बुधराम यादव, ओमप्रकाश भट्ट, दामोदर मिश्रा, शैलेंद्र गुप्ता ,प्रवेश भट्ट , श्रीमती कल्याणी तिवारी ,सीमा पांडेय , कंचन ,कामना पांडेय,  श्रीमती सुषमा पाठक, मनीषा भट्ट , विनय पाठक, अशरफी लाल सोनी, नितेश पाटकर,सतीश पांडेय 'उद्यान', गजानंद पात्रे , सहित पूरा छंदशाला परिवार उपस्थित रहा ।

बढ़ गयी कन्टमेन्ट जोन की संख्या... बिल्हा में सर्वाधिक..निर्देशों का होगा कड़ाई से पालन,देखे पूरी सूची
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS