मुख्यमंत्री गौरव अलंकरण योजना के तहत शिक्षकों का सम्मान

जशपुर नगर।शिक्षा के क्षेत्र में हम अन्य देशों से आगे रहे यह सोचकर शिक्षकों को अपने कर्तव्य का निर्वहन करना चाहिए।उक्त विचार छ.ग. राज्य के सबसे वरिष्ठ विधायक रामपुकार सिंह ने स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित जिला स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे देश में सबसे ज्यादा सम्मान शिक्षकों को दिया जाता है। हमारे देश में शिक्षा के क्षेत्र को सर्वोपरि मानने वाले कई लोग हुये हैं जिन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन शिक्षा को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि देश में प्राथमिक शाला का शिक्षक सभी विषय का अध्यापन कार्य करता है तो हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों के शिक्षक एवं कॉलेज के प्रोफेसर एक विषय पर अपनी योग्यता के आधार पर बच्चों को बेहतर ज्ञान प्रदान करते हैं।

पहले शिक्षा के क्षेत्र में विद्यालयों एवं शिक्षकों की कमी थी पर सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में विस्तार कार्य करते हुए विद्यालय एवं शिक्षको की कमी को दूर कर दिया है। प्रदेश के सभी बच्चों को शासन द्वारा शिक्षा का अधिकार प्रदान किया गया है ताकि सभी को शिक्षा मिले, शिक्षा का अवसर मिले। श्री सिंह ने कहा कि जशपुर जिले में यशस्वी जशपुर कार्यक्रम के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में काफी कार्य हो रहे हैं जिसके कारण प्रदेश में जशपुर जिला ने शिक्षा जगत में अपनी एक विषिष्ट पहचान बना ली है।

इस अवसर पर जिला कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने कहा कि शिक्षकों को समाज में सर्वोपरि स्थान दिया गया है। हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि विद्यालय के शत् प्रतिशत् बच्चे बोर्ड परीक्षा में शत् प्रतिशत् अंक प्राप्त करे। श्री अग्रवाल ने शिक्षकों से कहा कि शिक्षको को बच्चों का व्यक्तित्व विकास भी करना चाहिए, बच्चों को अध्ययन के अलावा विषिष्ट क्षेत्रों का भ्रमण भी करना चाहिए तथा विद्यालयों में योगा आदि का अभ्यास भी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जशपुर शिक्षा के क्षेत्र में काफी अच्छा कार्य कर रहा है उसे और बेहतर करने के लिए जिला प्रशासन कृत संकल्पित है।
उपस्थित शिक्षकों को ज़िला पुलिस अधीक्षक डी. रविशंकर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जितेंद्र यादव ने भी सम्बोधित किया और शिक्षा के विषय में कई महत्वपूर्ण बातों को साझा किया। विशेषकर कक्षा 10वीं और 12वीं के बाद बच्चे अपना कैरियर आगे कैसे लेकर जाते हैं उस विषय पर भी शिक्षकों को योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने के लिए कहा गया।

अतिथियों का स्वागत ज़िला शिक्षा अधिकारी जे. के. प्रसाद ने किया एवं प्रतिवेदन का पठन भी किया। यशस्वी जशपुर के नोडल अधिकारी विनोद गुप्ता ने विस्तार से जिले में संचालित यशस्वी जशपुर कार्यक्रम के बारे में जानकारी दिया। इस जिला स्तरीय शिक्षक दिवस के कार्यक्रम में मुख्य मंत्री गौरव अलंकरण योजना के अन्तर्गत विकास खण्ड स्तर पर प्रदान किये जाने वाले शिक्षा दूत पुरस्कार जिले के आठ विकास खण्ड के प्राथमिक शाला के 24 शिक्षको को एवं जिला स्तर पर दिया जाने वाला ज्ञानदीप पुरस्कार जिले के पूर्व माध्यमिक शाला के 03 शिक्षको को शाल ,श्रीफल एवं नगद राशि देकर सम्मानित किया गया। यशस्वी जशपुर कार्यक्रम के तहत जिले के शा. हाई स्कूल/हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में 10 वीं एवं 12 बोर्ड परीक्षा में अपने अध्यापन विषय में विगत तीन शैक्षणिक सत्रो में शत् प्रतिशत् परीक्षा परिणाम प्रदान करने वाले एवं जिन शिक्षको के अध्यापन विषय में बच्चों ने विषय में शत् प्रतिशत् अंक प्राप्त किया ऐसे जिले के कुल 140 शिक्षको को मुख्य अतिथि द्वारा शाल, श्रीफल एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में संकल्प शिक्षण संस्थान की छात्राओं द्वारा एक नृत्य प्रस्तुत कर सभी अतिथियों एवं शिक्षकों का मन मोह लिया गया। संकल्प शिक्षण संस्थान के छात्रा पलक साहू द्वारा अपने हाथो से बनाई गई पेंटिग मुख्य अतिथि रामपुकार सिंह एवं जिला कलेक्टर रितेश अग्रवाल को भेंट की गई जिसकी सभी अतिथियों द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गई। कार्यक्रम के प्रारम्भ में दीप प्रज्जवलन उपरांत राजकीय गीत राजेन्द्र प्रेमी एवं साथियों द्वारा प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेसी सुरेश जैन , बामदेव पांडेय , तारकेश्वर सिंह, सूरज चौरसिया आदि जनप्रतिनिधि विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन एम जेड यू सिद्धिकी एवं जयेश टोपनो द्वारा किया गया तथा कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन जाटवर जी द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.