शिक्षिका शशि ने किया प्रदेश का नाम रोशन.. जीता राष्ट्रीय ज्यूरी का दिल..दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ एक्टर का मिला अवार्ड..विभाग ने जताई खुशी

बिलासपुर—-भाटापारा शिक्षिका शशि तिवारी को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित नाटक प्रतियोगिता में बेस्ट आर्टिस्ट का खिताब मिला है। शशि तिवारी की सफलता को लेकर स्कूल समेत पूरा शहर गौरवान्वित महसूस कर रहा है। शिक्षक जगत ने शशि तिवारी की सफलता पर शुभकामनाएं दी है। पोखरी स्थित स्कूल के बच्चों ने भी अपनी शिक्षिका को प्यार दिया है।
              विकासखंड भाटापारा स्थित ग्राम पोखरी स्कूल की शिक्षिका शशि तिवारी ने राष्ट्रीय स्तर पर आओजित नृत्य नाटक प्रतियोगिता में बेस्ट आर्टिस्ट का खिताब हासिल किया है। प्रतियोगिता का आयोजन पिछले दिनों युवा कल्याण विभाग ऑल इंडिया सिविल सर्विस के बैनर तले दिल्ली में आयोजित किया गया। 
               राष्ट्रीय स्तर पर नाट्य प्रतियोगिता का आयोजन 23 से 27 जून के बीच नई दिल्ली स्थित स्टेडियम में किया गया। प्रतियोगिता में देश के कोने कोने से कलाकारों ने शिरकत किया। भाटपारा विकासखण्ड के ग्राम पोखरी में पदस्थ शिक्षिका शशि तिवारी ने छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व किया। 
          शानदार प्रदर्शन कर शशि तिवारी ने स्वरचित नाटक के माध्यम से मध्यम वर्गीय परिवार की हालातो का जीवन्त चित्रण किया। शशि तिवारी ने बताने का प्रयास किया कि समाज और परिवार नशे की लत में किस तरह जकड़ा हुआ है। उन्होने नशे की लत में टूटते परिवारों का सजीव चित्रण किया। परिवार और समाज के प्रति नारी भूमिका के बारे में भी बताया। साथ ही नारी पर होने वाले अत्याचारों का मार्मिक प्रस्तुति देते हुए सबका ध्यान आकर्षित किया।
                    निर्णायक मंडल ने नाटक के दौरान संवाद अदायगी की जमकर तारीप की।  खासकर जब तक नारी शांत है तो गाय है और जब रणचण्डी है तो तुच्छ पुरुष समाज पर प्रहार भी कर सकती है। संवाद ने लोगों की जमकर तालियां बटोरी। नाटक में पेश किए गए संवाद ..नारी कमजोर नही है,,, नारी अबला नहीं है को भी लोगों ने जमकर पसंद किया।
                        बताते चलें कि  शशि  तिवारी ने कोरोना काल के दौरान पाठ्यक्रम में शामिल नाटक का रूपांतरण किया। यू ट्यूब के जरिए नवाचार अभियान के तहत बच्चों को अभिनय का ना केवल पाठ पढ़ाया। बल्कि नाटिका पेश कर बच्चों को पढ़ाई के साथ जागरूकता का संदेश भी दिया। अभिनय आधारित पाठ्यक्रम को बच्चों के साथ  शिक्षा विभाग ने भी हाथों हाथ लिया। 
         अपनी उपलब्धि के लिए शशि तिवारी ने जिला शिक्षा अधिकारी  सी एस ध्रुव का विशेष आभार व्यक्त किया है। उन्होने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी के कुशल मार्गदर्शन और प्रोत्साहन से ही राष्ट्रीय स्तर पर मंचन करने का अवसर मिला। सफलता के लिए विकासखंड शिक्षा अधिकारी यदु संकुल प्राचार्य कुर्रे, संकुल समन्वयक जीवलाल साहू  संकुल केसमस्त शिक्षक, ब्लाक सांस्कृतिक प्रकोष्ठ प्रमुख ईश्वर देवदास समेत बच्चों का अहम् योदगान है। 
                    मालूम हो कि राज्य स्तर पर आयोजित संगीत, नृत्य, और शार्ट प्ले प्रतियोगिता  021-22 में शशि तिवारी ने प्रथम स्थान हासिल किया है।  राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली में आयोजित प्रतियोगिता में शिरकत कर स्व रचित नाटक- “नारी तू अबला नहीं”, का मंचन कर बेस्ट एक्टर का अवार्ड हासिल कर राज्य को गौरवान्वित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *