शिक्षक,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानीन एवं स्वास्थ्य विभाग आईसोलेशन दल के रूप में एकजुट होकर करेंगे कार्य

दंतेवाड़ा- कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोविड-19) को आपातकालीन महामारी घोषित किया गया है, जिसे ध्यान रखते हुए जिला विकासखण्ड एवं ग्राम पंचायत/नगर पालिका/पंचायत स्तर में पाये गये कोरोना से प्रभावित व्यक्ति को शासन के द्वारा जारी दिशा निर्देश एवं एसओपी का पालन करते हुए कोरोना से प्रभावित व्यक्तियों की ग्राम पंचायत/नगरीय निकाय स्तर में काउंसलर मानिटरिंग एवं सतर्कता की जानकारी हेतु विकासखण्ड संलग्न सची अनुसार होम आईसोलेशन निरीक्षण दल का गठन किया गया है। ग्राम पंचायत/नगरीय क्षेत्र के नोडल शिक्षा विभाग के व्याख्याता/शिक्षक होम आईसोलेशन दल के प्रमुख होंगे। प्रत्येक ग्राम पंचायत/नगरीय क्षेत्र के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानीन के साथ एक टीम के रूप में कार्य करेंगे एवं आवश्यकतानुसार सर्विलेंश/आईसोलेशन के नियमों को पालन किये जाने की होम आईसोलेशन के नोडल/आयुष विभाग के अधिकारी के मार्गदर्शन में निगरानी करेंगे।

चिकित्सीय सलाह हेतु गठित आयुष विभाग के होम आईसोलेशन टीम से समन्वयक कर सहयोग कार्य करेंगे। कोविड प्रभावित का होम आईसोलेशनः- टीम के सदस्यों के द्वारा होम आईसोलेशन में रहने वाले कोरोना कोरोना मरीज की स्वास्थ्य की जानकारी लेना है। कोविड प्रभावितों को मेडिसीन किट उपलब्ध करानाः- होम आईसोलेशन निरीक्षण दल कोविड मरीज की जानकारी होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग से समन्वयक करते हुए मेडिसीन किट/थर्मामीटर/आक्सीमीटर उपलब्ध करायेंगे। ऑक्सीजन लेबल का परीक्षणः- होम आईसोलेशन निरीक्षण दल कोरोना मरीज के आक्सीजन लेबल की निगरानी कर आक्सीजन लेबल 95 से कम पाये जाने पर एवं लगातार बुखार होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग को सूचित करेंगे। इमरजेंसी की स्थिति में अस्पताल तक पहुंचानाः- होम आईसोलेशन निरीक्षण दल के द्वारा कोरोना मरीजों से संपर्क के दौरान यदि आक्सीजन लेबल 95 से कम पाया जाता है या मरीज की स्थिति खराब होती है

तो तत्काल स्वास्थ्य विभाग से समन्वयक कर मरीज को अस्पताल तक पहुंचाने की व्यवस्था की जायेगी। सर्वेः- होम आईसोलेशन निरीक्षण दल द्वारा मितानीन, आंगनबाडी कार्यकर्ता के माध्यम से सर्दी, खांसी, बुखार, अथवा अन्य मौसमी बीमारी के लक्षण वाले व्यक्ति की सूची बनाकर स्वास्थ्य विभाग को सूचित करेंगे । टीकाकरणः- शासन के द्वारा 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है टीकाकरण से छूटे व्यक्तियों की जानकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानीन जानकारी प्राप्त होने पर पंचायत /नगरीय निकाय के माध्यम से उनका टीकाकरण कराना सुनिश्चित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *