कबाड़ से जुगाड़ कर तैयार होगी शिक्षण सामग्री,शिक्षक जटिल विषय-वस्तु को समझाने अपनायेंगे असान तरीके

रायपुर/ स्कूली बच्चों को पाठ्यक्रम के जटिल अध्यायों को समझाने के लिए शिक्षक आसपास में उपलब्ध कबाड़ से जुगाड़ कर शिक्षण सामग्री तैयार करेंगे। राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के अंतर्गत शिक्षण सामग्री तैयार करने स्कूल स्तर से लेकर जिला स्तर तक मेलों का आयोजन किया जाएगा। इस प्रतियोगिता की थीम मूलभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान पर आधारित होगी। प्रत्येक विकासखंड एवं जिला में प्रतियोगिता आयोजन के लिए 30-30 हजार रूपए प्रावधान किया गया है।जुड़े हमारे whatsapp ग्रुप से और पाए शिक्षा विभाग से संबंधित समस्त खबरे

प्रदेश की सभी प्राथमिक स्कूलों से प्रथम चरण में संकुल स्तर पर यह प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इस दिन प्रत्येक शाला से रोचक एवं प्रभावी सहायक शिक्षण सामग्री बनाकर शिक्षक अपने संकुल में लेकर जाएंगे। संकुल में सहायक शिक्षण सामग्री की उपादेयता, अभियान सीखने में महत्वपूर्ण भूमिका, उपयोग में आसानी, रख-रखाव एवं लंबी अवधि तक उपयोग कर सकने की क्षमता आदि को ध्यान में रखते हुए उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन किया जाएगा।

द्वितीय चरण में यही प्रतियोगिता विकासखंड स्तर पर आयोजित की जाएगी। सभी संकुल से उत्कृष्ट चयनित सहायक शिक्षण सामग्री को विकासखंड स्तर पर आयेाजित मेले में प्रदर्शित किया जाएगा। विकासखंड स्तर पर उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन किया जाएगा। तृतीय चरण में विकासखंड स्तर पर चयनित उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री को जिला स्तर पर आयोजित मेले में प्रदर्शित किया जाएगा। जिला स्तर के इस मेले में उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन होगा।

सहायक शिक्षण सामग्री मेले में शिक्षक विभिन्न प्रकार के नवाचारों एवं मूलभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान से जुड़े विभिन्न कौशलों को सीखने के लिए उपयोगी टीचिंग लर्निंग मटेरियल बना सकेंगे। सहायक शिक्षण सामग्री तैयार करने के लिए कुछ क्षेत्र सुझाए गए है, उनमें- भाषा सीखने, गणित सीखने, खिलौनों के माध्यम से सिखाने, अनुभव आधारित सीखने, कठपुतली एवं मुखौटों का उपयोग कर सीखाने, सिखने के लिए पॉकेट बोर्ड एवं विभिन्न प्रकार के फ्लेश कार्ड, चित्र-कहानियां, बिग-बुक, पोस्टर एवं प्रिंट-रिच वातावरण डिजाईन के लिए नमूने, डिजीटल शिक्षण सामग्री एवं ऑनलाईन सामग्री तथा ऑनलाईन नवाचारी बहुउपयोगी शिक्षण सामग्रियां तैयार की जा सकती है।

राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा द्वारा कबाड़ से जुगाड़ अंतर्गत मूलभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान की थीम पर आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता के संबंध में सभी जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा को निर्देश जारी किए हैं। संबंधित अधिकारियों को प्रतियोगिता से संबंधित सभी कार्यों को स्कूल से लेकर जिला स्तर तक समय-सीमा में पूर्ण करने कहा गया है। प्रतियोगिता आयोजन के लिए प्रस्तावित समय-सीमा के अनुसार शाला स्तर पर शिक्षकों द्वारा मूलभूत साक्षरता सीखने के लिए सामग्री निर्माण का कार्य 8 अक्टूबर से पहले करना है। संकुल स्तर पर स्कूलों द्वारा सहभागिता कर उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री चयन के लिए प्रतियोगिता 15 अक्टूबर से पहले आयोजित करना होगा। इसी प्रकार विकासखंड स्तर पर उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री चयन प्रतियोगिता 22 अक्टूबर से पहले और जिला स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन 19 अक्टूबर से पहले करने कहा गया है।

Comments

  1. By विद्यानंद कामड़े

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *