OBC चेयरमैन ने कहा..योजनाओं का नहीं हुआ क्रियान्यवन.. मेयर भी प्रमाण पत्र पाने भटक रहे..SDM से हुई चर्चा

बिलासपुर— पिछड़ा वर्ग आयोग के प्रदेश अध्यक्ष थानेश्वर साहू आज एक दिनी प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे। आयोग के अध्यक्ष ने कलेक्टर कार्यालय स्थित मंथन सभागार में सभी विभागों की सामुहिक बैठक लेकर पिछड़ा वर्गों के लिए शासन से स्वीकृत योजनाओं को लेकर चर्चा की। थानेश्वर साहू ने बताया कि इस दौरान जानकारी मिली कि योजनाओं का सफल क्रियान्यवय नहीं होने से लोगों तक लाभ नहीं पहुच रहा है। पत्रकारों से सवाल जवाब के दौरान साहू ने कहा कि जाति निवास प्रमाण पत्र बनाने को लेकर भी शिकायत मिली है। हमने जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रमाण पत्र बनाते समय अधिकारी समयावधि का विशेष ध्यान ऱखें। ताकि लोगों को अनावश्यक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े।

                   बिलासपुर एक दिनी प्रवास पर पहुंचे पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष ने सभी विभागों के साथ बैठक किया। छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से सवाल जवाब के दौरान चैयरमैन ने बताया कि शासन की तरफ से पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए कई योजनाएं संचालित है। लेकिन योजनाओं का लाभ हितग्राही तक नहीं पहुंच रहा है। इसलिए अधिकारियों और विभागों को निर्देश दिया है कि जानकारी अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास किया जाए। ताकि लोग सुविधाओं का लाभ ल सकें।

                   एक सवाल के जवाब में पिछड़ा वर्ग आयोग के चैयरमैन ने बताया कि पहले पंचायतों के माध्यम से शिक्षकों की भर्ती हुआ करती थी। वर्तमान शिक्षकों की भर्तियां शिक्षा विभाग से किया जा रहा है। चौदह हजार से अधिक पदों में भर्तियां होेने वाली है। पूर्व में भर्ती के समय पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को बीएड डीएड में पांच प्रतिशत छूट का फायदा मिला करता था। पदों की भर्तियों में कुछ ऐसा ही प्रावधान था। लेकिन अब नहीं दिया जा रहा है। हमने अधिकारियों के साथ बातचीत की। साथ ही पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को पांच प्रतिशत छूट दिए जाने की बात कही है।

                           सवाल जवाब के दौरान थानेश्वर साहू ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के बच्चों की कुछ समस्या सामने आयी है। छात्रावास और क्रीड़ा परिसर की मांग की है। हमने मामले को संज्ञान में लिया है। अलग से क्रीड़ा परिसर व्यवस्था की बात कही है। छात्रावास में 40 बच्चे रहते हैं। 100 सीट वाला छात्रावास बनाए जाने को लेकर चर्चा हुई है।

             उन्होने कहा कि लोगों को जाति आय प्रमाण पत्र बनाने के सवाल पर कहा कि मेयर जैसे व्यक्ति को प्रमाण पत्र बनाने के लिए भटकना पड़ता है। इसी तरह क्रीमी लेयर प्रमाण पत्र बनाने में लोगों को परेशानी हो रही है। हमने एसडीएम को निर्देश दिाय है कि क्रीमी लेयर में क्या होगा या क्या नहीं होगा। यह कानूनी मामला है..लोगो को बताएं। साथ ही जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर लेट लतीफी ना करें। प्रमाण पत्र बनाते समय समय सीमा का ध्यान रखा जाए।                    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *