मेरा बिलासपुर

ऐसे पकड़ाया..फरार ईनामी रेपिस्ट..प्रेमजाल में फांसकर कई लड़कियों का किया दैहिक शोषण.. शहडोल मध्यप्रदेश में पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर—शादी का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म के फरार ईनामी आरोपी को रतनपुर पुलिस ने शहडोल मध्यप्रदेश से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी पर फरार 5 हजार रूपए का एलान किया था। गिरफ्तारी के बाद फरार आरोपी पर आईपीसी की धारा 363, 366, 376 और 4,6 पाक्सो एक्ट का अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी को न्यायालय के हवाले कर दिया गया है।पकड़े गए आरोपी दिलीप कुमार गुप्ता है।
 
                     शादी का झांसा देकर नाबालिक को भगाकर दैहिक शोषण करने वाले फरार ईनामी आरोपी को रतनपुर पुलिस ने शहडोल से गिरफ्तार किया है। ईनामी फरार आरोपी पर पुलिस ने पांच हजार रूपए ईनाम का एलान किया था।
 
                                        रतनपुर पुलिस से मिली के अनुसार आरोपी दिलीप कुमार तीन महीने पहले पीड़ित परिजनों ने नाबालिग लड़की को शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया। एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपी फरार हो गया। मामले में लगातार पतासाजी की जा रही थी। इस दौरान आरोपी के मोबाईल नम्बर को साइबर सेल के माध्यम से लगातार ट्रेस किया जा रहा था। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने दो तीन बार मोबाइल लोकेशन के आधार पर धावा भी बोला। लेकिन आरोपी हर चकमा देने में कामयाब रहा है। और पुलिस से बचने हर बार सिम कार्ड भी बदलता रहा।
 
         हरविन्दर सिंह ने बताया कि इसी बीच आरोपी को पकड़ने पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने पांच हजार रूपये बतौर ईनाम का एलान किया। साथ ही पुलिस टीम का गठन कर आरोपी को पकड़ने जगह रवाना किया गया। इस बीच जानकारी मिली कि आरोपी दिलीप ने रतनपुर थाना क्षेत्र में दो-तीन अन्य लड़कियों को भी प्रेमजाल में फांसकर दैहिक शोषण किया है।
 
               पतासाजी के दौरान पता चला कि आरोपी ने गौरेला पेन्ड्रा मरवाही जिले में भी एक लड़की को पत्नी बनाकर साथ में रखा है। तत्काल साइबर टीम के सहयोग से जानकारी मिली कि आरोपी का लोकेशन इस समय एक दिन पहले सीधी और शहडोल के बीच है। लोकेशन की जानकारी के बाद आरोपी को पकड़ने तत्काल पुलिस टीम को शहडोल रवाना किया गया। शहडोल जिले में ही आरोपी समेत उसकी पत्नी को भी टीम ने धर दबोचा।
      
              पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि आरोपी के साथ मिली लड़की मरवाही थाना क्षेत्र के ग्राम-लोहारी की रहने वाली है। लड़की के परिजनों ने थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट पर दर्ज कराया है। गिरफ्तारी के समय लड़की के बारे में बताया गया। इसके बाद ल़ड़की को थाना के हवाले से उसके परिजनों को सौंपा गया।
 
                 आरोपी दिलीप कुमार गुप्ता ने बताया कि वह मुख्य रूप से जिला सीधी खड़्जी चौकी का रहने वाला है। दीलिप को आईपीसी की धारा- 363,366,376 और 4,6 पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया। आरोपी के धर पकड़ में थाना प्रभारी हरविंदर सिंह, प्रधान आरक्षक- प्रवीण पांडेय, आरक्षक राहुल सिंह की विशेष भूमिका रही ।

पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा रेल मंत्री को पत्र..कहा..मनेन्द्रगढ़ में बनाए स्टॉपेज..प्रतिनिधिमंडल ने भी DRM को बताया सच
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS