मेरा बिलासपुर

आरोपियों ने बताया सच…पुलिस के खड़े हो गए कान…राजस्थान में दो दिन लगाया कैम्प…आरोपियों ने बताया कतर देश का नाम

बिलासपुर—बिलासपुर रेंज साइबर थाना पुलिस ने दर्ज ऑनलाइन धोखाधड़ी मामले में अंतरराज्यीय आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया आरोपी टेलीग्राम एप के माध्यम से फर्जी कंपनी का एच.आर. बनकर ठगी को अंजाम दे रहा था। आरोपी ने महिला को बैंक मैनेजर पार्ट टाईम जाॅब आफर देकर टास्क पूरा करने की सूरत में  घर बैंठे मुनाफा कमाने का झांसा दिया। इस बहाने ठगी को अंजाम दिया है। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने एक सप्ताह तक राजस्थान में कैम्प लगाया। *सैकडो आई.एम.ई.आई. नम्बर मोबाईल नम्बर खंगालने के बाद आरोपी को पकड़ा गया। आरोपी को आईपीसी की धारा 420, 120(बी), 34 और  66(सी)(डी), 43 आई.टी एक्ट के तहत जेल दाखिल कराया गया है। पकड़े गए दोनो आरोपियों का नाम अजय सिंह और गजेन्द्र सिंह है। दोनो आरोपी डीडवाना और नागौर राजस्थान के रहने  वाले हैं।  और

Join Our WhatsApp Group Join Now

 फर्जी बैंक मैनेजर,फर्जी बैंक

पुलिस ने खुलासा किया कि पारिजात एक्सटेंशन निवासी सुनील कुमार को टेलीग्राम एप के माध्यम से क्वाईन स्वीच इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट कंपनी एच.आर. महिला ने प्रार्थी को पार्ट टाइम बैंक मैनेजर पद आफर दिया। मैनेजर महिला ने बताया कि प्रत्येक टास्क पर 200 रूपए दिए जाएंगे। बाद में महिला ने गलत टास्क बताकर पीडित से पैसे जमा करवाया। इस तरह फर्जी बैंक मैनेजर ने 10 सितम्बर 23 से 12 सितम्बर 23 के बीच 15 लाख 4 हजार 850 रूपयों की ठगी को अंजाम दिया। पीड़ित के लिखित आवेदन पर अपराध कायम किया गया।

राजस्थान से आरोपियों को पकड़ा गया

पुलिस कप्तान रजनेश सिंह के विशेष अभियान के निर्देश पर दर्ज अपराधों को खंगाला गया। खातो को चिन्हांकित कर बैंक स्टेटमेट, ऑनलाईन ट्रांजेक्शन और ए.टी.एम. विड्राल की समीक्षा की गयी। बैंक पंजीकृत मोबाईल नम्बर, काॅलिंग आई.एम.ई.आई. नम्बर काॅलिंग नम्बर के आधार पर जानकारी मिली कि ठगी का अपराध राजस्थान के गुडपालिया और लडानू के आसपास के अपराधी ने किया है। जानकारी के बाद पुलिस कप्तान रजनेश सिंह ने विशेष आदेश पर अवनीश पासवान के अगुवाई में पुलिस टीम को राजस्थान, दिल्ली  रवाना किया गया। टीम ने एक  राजस्थान में कैम्प किया। छानबीन के दौरान जानकारी मिली कि अजय सिंह और गजेन्द्र स्वामी आनेंलाईन ठगी का काम करते हैं। स्थानीय पुलिस के सहयोग से दोनो आरोपियों को हिरासत में लिया गया।

आरोपियों ने बोला सच..पुलिस के खड़े हुए कान

पूछताछ के दौरान दोनो आरोपियों ने ऑनलाईन ठगी का काम कबूल किया। आरोपियों ने बताया कि आसपास काम करने वाले मजदूरों के दस्तावनेज से फर्जी सिम कार्ड लिया और फर्जी बैंक खाते खुलवाए। आरोपियों के जानकारी दिया कि दोहा कतर में मजदूरी ठेकेदारी के आड़ में ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले मनोज स्वामी ठेकेदारी के साथ फर्जीवाड़ा का काम किया। इस तरह विदेश मे कार्य करने वाले मजदूरो से कतर की मुद्रा रियाल लेकर मजदूरो के परिजनो को भारतीय मुद्रा में आनलाईन फ्राॅड को अंजाम दिया।

कतर के साथी से मिलकर लाखों की ठगी

 आरोपी अजय और गज्जू ने बताया कि पीड़ित से 5 लाख रुपए  अपने खाता से आहरित किया। बजी राशि  मनोज स्वामी ने अन्य बैंक खातो में हस्तांतरित करया है। पुलिस टीम ने दोनो आरोपियों अजय सिंह और गज्जू स्वामी को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही आरोपीयो के बैंक अकाउंट होल्ड कराया है। साथ ही एक लाख 27 हजार रूपया न्यायालय के माध्यम से बैंक होल्ड अमांउट से वापस कराया गया। गिरफ्तार आरोपीयो से घटना में प्रयुक्त 2 नग एण्ड्रायड फोन के साथ सिम कार्ड  जब्त किगा यगया है।  गिरफ्तार आरोपीयो को न्यायालय के हवाले किया गया है।

पकड़े गए आरोपियों को नाम

1. अजय सिंह पिता रामसिंह उम्र 22 साल जाति राजपुत निवासी ग्राम छपारा लडानू थाना जसवंतगढ जिला डीडवाना कुचावन राजस्थान।

2.गजेन्द्र उर्फ गज्जु स्वामी पिता मघादास स्वामी  40 साल जाति निवासी ग्राम गुडपालिया पोस्ट छपारा थाना लांडनू जिला नागौर राजस्थान।

Related Articles

Back to top button
close