चाक चौबन्द रहेगी ऊर्स की व्यवस्था..बैठक में एसडीएम ने दिया विभागों को काम..बताया.गतिविधियों पर रहेगी नजर

बिलासपुर(रियाज़ अशरफी)–लुतरा शरीफ स्थित सूफी संत हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के दरबार में 11 से शुरू होकर 15 नवम्बर 2022 तक 64वां सालाना ऊर्स का आयोजन किया जाएगा। पांच दिवसीय ऊर्स में हजारों हजार की संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। साथ ही नामचीन सूफी परपंपरा के लोग भी शिरकत करेंगे। कार्यक्रम को सुचारू रूप से संचालन को लेकर मस्तूरी एसडीएम और  इंतेजामिया कमेटी दरगाह लुतरा शरीफ प्रभारी महेश शर्मा ने बैठक कर जरूरी दिशा निर्देश दिया। 
 
            ऊर्स की तैयारियों को लेकर बैठक का आयोजन सोमवार को कमेटी के कांफ्रेंस हॉल में किया गया। बैठक में मुस्लिम जमात,ग्राम पंचायत,दरगाह के खादिम और जनप्रतिनिधियों ने शिरकत किया। इस दौरान 12 बिंदुओं पर चर्चा कर एसडीएम ने विभागों को आवश्यक निर्देश दिया।
 
                 एसडीएम शर्मा ने कहा कि उर्स के दौरान 5 दिनों तक डॉक्टर,नर्स,स्टॉफ मौजूद रहेंगे। 24 घण्टे एम्बुलेंस 108 संजीवनी वयवस्था और रोजाना शाम को मच्छरों के रोकथाम के लिए फॉगिंग मशीन का उपयोग किया जाएगा। उर्स के दौरान सीपत- बलौदा मार्ग में भारी वाहनों के मार्ग को डायवर्ट किया जाएगा। भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने की जिम्मेदारी उप पुलिस अधीक्षक और यातायात बिलासपुर की होगी।
 
                        उर्स स्थल की साफ-सफाई कचरा उठाने वाले वाहन की व्यवस्था निगम प्रशासन के हवाले किया। लुतरा शरीफ के गली मोहल्लों, चौक- चौराहों में और दरगाह के सामने उजाले की व्यवस्था,धूल के उड़ने से बचाने के लिए दरगाह तक पानी छिड़काव,की व्यवस्था,वाहन पार्किंग व्यवस्था, सुचारू आवागमन की व्यवस्था की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत लुतरा की होगी। उर्स के दौरान दरगाह परिसर पर कानून और शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए महिला एवं पुरुष बल की उपस्थिति की जिम्मेदारी उप पुलिस अधीक्षक और सीपत थाना की होगी।
 
                          बैठक के दौरान एसडीएम ने विद्युत व्यवस्था 24 घण्टे उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही फोन कर कव्वाली मैदान में मंच के पास लगे विद्युत पोल को हटाने का निर्देश दिया। पेयजल के लिए लुतरा और निकटतम ग्राम पंचायतो के हैण्डपम्प की मरम्मत का भी आदेश दिया। अग्निशमन यंत्र, बायो टॉयलेट कंटेनर की व्यवस्था की जिम्मेदारी जनपद पंचायत मस्तूरी को दिया।
 
              शर्मा ने बताया कि दरगाह परिषर में कचरा प्रबंधन के लिए बड़े डस्टबिन एनटीपीसी उपलब्ध कराएगा। दर्शनार्थियों को ठंड से बचाने के लिए अलाव,लंगर बनाने के लिए पर्याप्त लकड़ी उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी वन विभाग की होगी।
 
                     बैठक में मस्तूरी जनपद पंचायत सभापति नूर मोहम्मद,उप पुलिस अधीक्षक सीडी लहरे, अतिरिक्त तसीलदार सीपत पेखन टोंड्रे,मुस्लिम जमात सदर हाजी अब्दुल करीम,सेक्रेट्री व खादिम उस्मान खान, दादी अम्मा खादिम फिरोज खान, मोहम्मद इक़बाल हक़,जनपद सदस्य प्रतिनिधि लक्ष्मी साहू, सरपंच प्रतिनिधि संतोष गंधर्व,उप सरपंच कृष्ण कुमार कैवर्त,पंचायत सचिव थानेश्वर सिंह, दरगाह के खादिम हाजी शेर मोहम्मद,हाजी साबिर,थाना प्रभारी हरीश टांडेकर, पीडब्ल्यूडी एसडीओ विंदयराज सिंह, रेवेन्यू इंस्पेक्टर अब्दुल कदीर खान,अब्दुल गफ्फार,परस कैवर्त, दरगाह के कर्मचारी मिर्जा फिरोज,मोहम्मद नूर,रामा पटेल सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी व मुस्लिम समाज के लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *