लिपिकों ने किया फेडरेशन के प्रदेश व्यापी हड़ताल का समर्थन..रोहित ने कहा.अब आर-पार की लड़ाई

बिलासपुर—- महंगाई भत्ता,भाड़ा भत्ता समेत वेतन विसंगति की मांग को लेकर 29 जून को प्रस्तावित फेडरेशन के हड़ताल का छत्तीसगढ़ शासकीय कर्मचारी लिपिक संघ ने खुला समर्थन किया है। लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष रोहित तिवारी ने बताया कि 29 जून को सभी कर्मचारियों के साथ लिपिक संगठन भी प्रदेश स्तर पर सड़क पर उतरेगा। इस बार लड़ाई आर-पार की होगी।
                छ्त्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ प्रदेश अध्यक्ष रोहित तिवारी ने छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन की 29जून को आयोजित प्रदेश व्यापी हडताल का समर्थन किया है। रोहित ने बताया कि प्रदेश के लिपिको को निर्देश दिया गया है कि अपनी मांग को लेकर सड़क पर उतरें।
            प्रदेश अध्यक्ष रोहित तिवारी ने बताया की संघ की  25जून को प्रांतीय बैठक में प्रदेश के सभी जिलों के संगठन से परामर्श के बाद हड़ताल का एलान किया गया है। इस दौरान सर्वसम्मित से फैसला लिया गया कि 29जून की फेडरेशन की हड़ताल में प्रदेश के सभी लिपिक अपनी पूर्ण सहभागिता सुनिश्चित करेंगे।
                  कार्यकारणी समेत सभी जिलों को निर्देश भी ज़ारी कर दिया गया है। रोहित ने बताया कि देश में छत्तीसगढ़ ही एक अनूठा राज्य है..जहां  रकार की प्राथमिकता में कर्मचारी शामिल नहीं है।आज भी देश में सबसे कम महगाई भत्ता छत्तीसगढ़ राज्य के कर्मचारियो को दिया जा रहा है। इस बात को लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है। आर्थिक कुठराघात झेलते कर्मचारी अब आंदोलन को मजबूर हैं। आंदोलन में प्रदेश का एक एक लिपिक आंदोलन में ना केवल बढ़ चढ़ हिस्सा लेगा। बल्कि आंदोलन को सफल भी बनाएगा।
                     रोहित तिवारी ने बताया कि प्रांतीय बैठक में मुख्य रूप से लिपिक संगठन के पदाधिकारी वंदना त्रिपाठी महिला,संरक्षक शोभा श्रीवास्तव, महामंत्री मुकेश मिश्रा,महामंत्री महामंत्री सुनील यादव, प्रांतीय सचिव जगदीश खरे, प्रांतीय सचिव निरंजन बरीहा, वर्षा रानी चरण प्रांतीय सचिव, प्रांतीय प्रवक्ता मनोज वैष्णव, प्रांतीय सचिव इम्तियाज अहमद , प्रांतीय सचिव राखी कौशिक प्रांतीय महामंत्री हेमंत बघेल, सम्भागीय अध्यक्ष रायपुर दीपक मिश्रा समेत प्रदेश के 23 जिलों के लगभग सभी प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *