डीईओ की बेरूखी देख..फूट फूट कर रोने लगी बच्चियां ..फरियाद लेकर पहुंच गयी कलेक्टर के पास

बिलासपुर— सीपत स्थित शासकीय कन्या हाईस्कूल की छात्राएं शिक्षक की मांग को लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंची। छात्राओं ने एसडीएम तुलाराम भारद्वाज को लिखित शिकायत कर अपनी मांग को पेश किया। एसडीएम ने तत्काल जिला शिक्षा अधिकारी को अवगत कराया। साथ ही बच्चों की परेशानी को सुनने का निर्देश भी दिया। मौके पर पहुंचते ही जिला शिक्षा अधिकारी ने पहले तो छात्राओं को  फटकारा। फिर मामले को शासन पर टाल दिया। बच्चियों ने जब पढ़ाई का हवाला दिया तो …जिला शिक्षा अधिकारी ने पहले फटकारा और इसके बाद चुपचाप मौके से चले गए। 

                     शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय की छात्राएं शिक्षक की कमी की शिकायत को लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंची। छात्राओं ने  एसडीएम तुलाराम भारद्वाज को लिखित शिकायत कर बताया कि स्कूल में शिक्षकों की पहले से ही कमी है। इसी बीच शासन ने स्कूल के एक मात्र अंग्रेजी शिक्षक का स्थानांतरण कोटा कर दिया है। वही शिक्षक 10 वीं, 11 वीं और 12  वीं को राजनीति विक्षान पढ़ाते हैं। स्थानांतरण के बाद शासन ने दूसरा शिक्षक भी नहीं भेजा है। जबकि एक सप्ताह बाद परीक्षा होने वाली है।

                   छात्राओं ने यह भी बताया कि स्कूल में पहले से ही शिक्षकों की कमी है। अब अंग्रेजी और राजनीति विज्ञान पढ़ाने वाले शिक्षक का स्थानांतरण कर दिया गया है। हमारी पढ़ाई प्रभावित होगी। छात्राओं की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ने तत्काल जिला शिक्षा विभाग को सूचित किया। 

                                         जानकारी मिलते ही डीईओ मौके पर पहुंचे। छात्राओं की शिकायत को देखा और पढ़ा। इसके बाद उन्होने फटकारा भी। उन्होने कहा कि शासन ने स्थानांतरण किया है। हम कुछ नहीं कर सकते है। अभ्यावेदन मंगाया गया है। जानकारी के बाद फैसला लिया जाएगा। 

                जब छात्राओं ने अपनी पीड़ा को बताना शुरू किया तो जिला शिक्षा विभाग अधिकारी छात्राओं को डांटना फटकारना शुरू कर दिया। साथ ही ठीक से बात करने को कहा। इस दौरान छात्राओं ने बार बार अपनी पढ़ाई का हवाला दिया। बावजूद इसके डीईओ कोशिक ने छात्राओं को सुनने से ना केवल इंकार किया। बल्कि नेतागिरी नहीं किए जाने की बात भी कही। इसके बाद छात्राएं फूट फूट कर रोने लगी। लेकिन डीईओ पर कोई असर नहीं हुआ। डीईओ कौशिक यह कहते हुए चले गए कि सब गुरूजी लोगों की राजनीति है। डीईओ की बेरूखे बोल के बाद छात्राएं शिकायत लेकर कलेक्टर सौरभ कुमार के पास पहुंच गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.