किसानों के लिए खुला समृद्धि का दरवाजा..कृषि मंत्री चौबे ने कहा.आत्मनिर्भर बनेगा किसान..पढ़ें ..नेता प्रतिपक्ष धरम ने सरकार को क्या कह दिया

बिलासपुर—प्रदेश के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे साइंस कालेज स्थित आयोजित तीन दिवसीय किसानों समृद्धि मेला का शुभारम्भ किया।  उपस्थित लोगों को कृषि मंत्री ने संबोधित भी किया। उन्होने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने राज्य सरकार वचनबद्ध है। किसानों को खेती-किसानी की दिशा में समृद्ध बनानेे, उन्हें नवाचारों और नये आधुनिक तकनीकी से जोड़ने के लिए किसान समृद्धि मेले का आयोजन किया जा रहा है।
 
 साइंस कालेज मैदान में आयोजित तीन दिवसीय किसान मेला का शुभारम्भ करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ किसानों का प्रदेश है। गांवों के खेत-खलिहानों में समृद्धि आने से छत्तीसगढ़ में भी समृद्धि आएगी। छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की तरक्की और आत्मनिर्भर बनाने के लिए संकलिप्त है। छत्तीसगढ़ सरकार ने नीतियां बनाकर किसानों के लिए समृद्धि के दरवाजा खो दिया है।
 
          कार्यक्रम में कृषि मंत्री चौबे ने प्रगतिशील एवं उन्नतशील किसानों को योजना अंतर्गत चेक का वितरण किया।
 
            कार्यक्रम में बतौर अतिथि मौजूद नेता प्रतिपक्ष श्री धरमलाल कौशिक ने कहा कि छत्तीसगढ़ धान के मामले में आत्मनिर्भर बना है। लेकिन दलहन, तिलहन के उत्पादन में कार्ययोजना बनाकर प्रोत्साहन दिए जाने की जरूरत है। संभाग में डेयरी, फ्लोरीक्लचर और हार्टीकल्चर की अपार संभावनाएं हैं। शासन स्तर पर बेहतर रणनीति के साथ कार्ययोजना बनाकर प्रयास किया जाना चाहिए।
 
          सांसद अरूण साव ने कहा कि किसानों को तरक्की के लिए आधुनिक कृषि पद्धति अपनाना जरूरी है। इससे न केवल उत्पादकता बढ़ेगी, बल्कि किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी। सरकार की बेहतर नीतियों के कारण ही किसान समृद्धि के वाहक बनते है।
 
               कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. कमलप्रीत सिंह ने कहा कि कृषि मेला उन्नत खेती और आय के साधन बढ़ाने का माध्यम है। इसके जरिए किसानों को खेती-किसानी से जुडे़ नई-नई तकनीकों की जानकारी भी मिलती है। अपेक्स बैंक के अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर ने बिलासपुर में 21 साल बाद विशाल मेले के आयोजन के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार प्रकट किया। चंद्राकर ने कहा कि शासन की नीतियों से कृषि क्षेत्र में न केवल शोध को बढ़ावा मिला है। बल्कि किसानों के जीवन में भी समृद्धि आई है।
 
          इस अवसर पर संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह, विधायक शैलेश पाण्डेय, विधायक रजनीश सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान, महापौर रामशरण यादव, शाकम्बरी बोर्ड के अध्यक्ष रामकुमार पटेल, पर्यटन मण्डल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव,मछुआ कल्याण बोर्ड अध्यक्ष  एम.आर.निषाद,विशेष सचिव कृषि विभाग डॉ. एस.भारतीदासन, संचालक कृषि विभाग श्री यशवंत कुमार सिंह, संचालक पशु विभाग संजय चंदन त्रिपाठी, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर, एस.एस.पी. पारूल माथुर समेत राज्य से आए बड़ी संख्या में किसान और जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *