मेरा बिलासपुर

डूबते को तिनका का सहारा..रंग लाया जसबीर का प्रयास..अंधेरे में गुम होती रामकुमार को मिली नई जिन्दगी

बिलासपुर—जिसका कोई नहीं..उसका तो खुदा है यारो..मै नहीं कहता..यह किताबों में लिखा है यारो,..लावारिस का मकबूल गाना है यह।और यह सच भी है कि जब व्यक्ति अपने आप से हार जाता है। दुनिया ढुकरा दिया जाता है तो इसी दुनिया से कोई ना कोई व्यक्ति सामने आ ही जाता है..जो सारे दुख को अपना समझ सहयोग को तत्तपर हो जाता है। और फिर देखते ही देखते सारी बाधाई अपने आप हटती जाती है। ऐसा ही कुछ हुआ बेरोजगार युवक राम कुमार ध्रुव के साथ। आज उसके जीवन में समाजसेवी जसबीर चावला किसी देवदूत से कम नहीं है।
   
                      पेशे से ड्रायवर रामकुमार ध्रुव कुछ साल पहले तक शरीर से ठीक ठाक था। ड्रायवरी कर घर का गुजर बसर करता था। रामकुमार खमतराई का रहने वाला है। इस बीच उसके साथ हादसा हुआ। किन्ही कारणों से बाएं पैर की दो अगुंलिया सड़ने लगी। देखते ही देखते ही दिन महीनों में दोनों अंगुलिया अलग हो गयी। इसके चलते राजकुमार की नौकरी भी छूट गयी। इस दौरान उसने दवा दारू खूब किया। लेकिन फायदा कही नहीं मिला। हां उस दौरान घर की जमा पूंजी भी खत्म हो गयी। इसके बाद वह थक हार गया। और अपने आप को किस्मत के हवाले कर दिया। इस दौरान वह अपना अंतिम समय भी गिनना शुरू कर दिया।
 
                दोनों अंगुलियों के खत्म हो जाने के बाद रामकुमार का चलना फिरना भी मुश्किल हो गया। लेकिन किस्मत को कुछ अलग ही मंजूर था। रामकुमार की मुलाकात एक पत्रकार से हुई। उसने रामकुमार के इलाज के लिए शासन प्रशासन स्तर पर मदद के लिए जमकर प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी। इधर रामकुमार की हालत दिनों दिन बद से बदतर होती चली गयी। 
 
           पत्रकार ने रामकुमार की समस्या और परेशानियों को सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। वीडियो पर बिल्हा निवासी वरिष्ठ समाज सेवी सरदार जसबीर चावला की नजर पड़ी। जसबीर ने सक्रिय समाजिक संस्था  नई पहल के संयोजक रेखा आहूजा और सतराम जेठमलानी से संपर्क किया। दोनों ने जसबीर के साथ मरीज को मदद करने का संकल्प लिया। इसके बाद तीनों  बिलासपुर के प्रख्यात सर्जन ब्रजेश पटेल और डॉ तृप्ति सिंह से सम्पर्क किया। दोनों ने रामकुमार ध्रुव को प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कर सफतापूर्वक आपरेशन किया।
 
            सरदार जसबीर सिंह चावला ने बताया कि ऊपर वाले की कृपा से आज रामकुमार ध्रुव पूरी तरह से स्वस्थ है। इसके लिए पत्रकार महोदय का शुक्रिया करना चाहुंगा। वही राजकुमार रेखा आहुजा, संतराम जेठमलानी,जसबीर चावला समेत डॉ. बृजेश पटेल और डॉ. तृप्ति के प्रति बार बार कृतज्ञता जाहिर करने से नहीं थक रहा है।

प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 69 IAS अफसरों के तबादले,हटाये गए करौली कलेक्टर,देखें पूरी लिस्ट
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS