कोरोना प्रोटोकाल के बीच मनाया जाएगा आजादी का पर्व..सामान्य प्रशासन का फरमान..सांस्कृतिक कार्यक्रम और रैलियों पर रोक..करना होगा पालन

बिलासपुर—स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ पर गरिमामय माहौल में कोरोना प्रोटोकाल के बीच मनाया जाएगा। जिला प्रशासन ने महामारी को ध्यान में रखते हुए विशेष सावधानी के साथ स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने का फैसला किया है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड-19 से बचाव के लिये दिशा निर्देश भी जारी किया है। 
 
                 सामान्य प्रशासन विभाग से जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार स्वतंत्रता दिवस गरिमामय माहौल में लेकिन कोविड प्रोटोकाल पालन के साथ मनाया जाएगा।  जिला स्तर पर मुख्य अतिथि ध्वजारोहण करेंगैे। ध्वजारोहण के बाद पुलिस और नगर सैनिक की टुकड़ियां सलामी दी जाएगी। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री के जनता के नाम संदेश का वाचन करेंगे।
 
                      कार्यक्रम में कोरोना वारियर्स डॉक्टरों, पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों और स्वच्छताकर्मियों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के लिए जारी निर्देशों मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन किया जाएगा।
 
                          तहसील और जनपद स्तर पर सार्वजनिक समारोह नहीं होंगे। जनपद पंचायत और नगरीय निकायों में अध्यक्ष ध्वजारोहण करेंगे। पंचायत मुख्यालयों में सरपंच और बड़े गांवों में मुखिया ध्वजारोहण करेगा। इस दौरान सामुहिक राष्ट्रीय गान का भी आयोजन होगा। 
 
                     जो शैक्षणिक संस्थान खुले हुए हैं वहां छात्र-छात्राओं की उपस्थिति में ध्वजारोहण किया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला जाएगा। रैली, सांस्कृतिक कार्यक्रम, प्रतियोगिता इत्यादि का आयोजन नहीं होगा। 
 
                  राज्य स्तर पर राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे। राजधानी रायपुर और अन्य जिला मुख्यालयों में आयोजित होने वाले मुख्य समारोह सुबह 9 बजे से प्रारंभ होंगे। इस बात को ध्यान में रखते हुए जिला मुख्यालयों में स्थित शासकीय कार्यालयों में ध्वजारोहण कार्यक्रम सुबह 9 बजे के पहले सम्पन्न किया जायेगा। जिससे कार्यालयों के अधिकारी और  कर्मचारी मुख्य समारोह में शिरकत कर सकें। 
 
                           विभाग और कार्यालय प्रमुख कार्यालय में ध्वजारोहण करेगा। सामूहिक रूप से राष्ट्रीय गान गाया जाएगा। सभी शासकीय और सार्वजनिक भवनों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस की रात्रि में प्रदेश के सभी शासकीय, सार्वजनिक भवनों, राष्ट्रीय महत्व के स्मारकों पर रोशनी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *