महान मेरोडोना का निधन..खेल दुनिया में शोक की लहर…फुटबाल के बादशाह ने कहा..अब आसमान में मारेंगे गोल

बिलासपुर—-(डेस्क न्यूज)… फुटबाल के महान जादुगरडिएगो माराडोना का दिल का दौरान पड़ने से निधन हो गया है। कुछ दिनों पहले उनका दिमाग का आपरेशन भई हुआ था। यद्यपि दुनिया में उन्हें अर्जेन्टिना की नागरिक कहती है। लेकिन मैराडोना पूुरे विश्व के दिलों में रहते थे। उनकी कप्तानी में अर्जेंटीना ने वर्ल्ड कप का खिताफ जीता था।
 
                    दुनिया के महानतम फुटबालर में शुमार डिएगो माराडोना अब हमारे बीच में नहीं रहे है। मैराडोना 60 साल के थे। माराडोना का निधन हार्ट अटैक से हुआ है। नवम्बर महीने की 11 तारीख को मेराडोना को दिमाग की इमरजेन्सी सर्जरी के आठ दिनों बाद अस्पताल से छुट्टी मिली थी।
                      माराडोना को सर्वकालिक महान फुटबॉलर्स कहा जाता है। माराडोना की कप्तानी में ही अर्जेन्टीना ने इंग्लैंड के खिलाफ 1986 में विश्व कप जीता था। उन्होने फायनल में जिस विजयी गोल को दागा फुटबाल की दुनिया में उस गोल को ‘हैंड ऑफ गॉड’ के नाम से यादा किया जाता है।
 
               मारोडोना 1982 में स्पेन में हुए फुटबॉल वर्ल्ड कप से चर्चा में आए। तब वह 21 साल के थे।  बावजूद इसके वह अर्जेंटीना के स्टार खिलाड़ी बनकर उभरे। चार साल बाद जब अर्जेंटीना ने वर्ल्ड कप जीता तो वह टीम के कप्तान थे।
        
                   माराडोना बोका जूनियर्स, नैपोली और बार्सिलोना के लिए क्लब फुटबॉल भी खेल चुके हैं। दुनिया भर में उनकी बहुत फैन फॉलोइंग रही है। हालांकि, वह ड्रग्स और शराब की लत के चलते वह कई बार विवादों में भी रहे। अर्जेन्टीना राष्ट्रीय फुटबाल टीम को उन्होने कोच भी किया। उन्होने राष्ट्रपति के हस्तक्षेप के बाद सन्यास छोड़कर दुबारा फुटबाल टीम के सदस्य बने। 

                   मेराडोना ने कोरोना टेस्ट भी कराया था..लेकिन रिपोर्ट नेगेटिव रहा। बॉडीगार्ड में कोरोना लक्षण आने के बाद पिछले हफ्ते दूसरी बार सेल्फ आइसोलेशन में गए थे।
 
 आसामान में खेलेंगे फुटबाल–पेले—
          
            फुटबाल के बादशाह और जागुगर एक दूसरे के प्रशंसक थे। यद्यपि दोनों की उम्र में 20 साल से अधिक फर्क था।बावजूद इसके दोनों महान फुटबालर एक दूसरे में गहरी दोस्ती थी। पेले ने अपनी श्रद्धांजलि में कहा कि एक दिन आसमान में कहीं मैराडोना के साथ फुटबाल खेलुंगा।
 
भारतीय खेल दुनिया में भी शोक
 
             मेराडोना के निधन से भारतीय खेल दुनिया में भी शोक की लहर है। बीसीसीआई प्रमुख सौरभ गांगुली ने कहा कि मेरा हीरो नही रहा…माय हैड जीनियर रेस्ट इन पीस…। बताते चलें कि 2017 में सौरभ गांगुली में कोलकाता में मेराडोना के साथ एक चैरिटी फुटबाल मैच भी खेला था।
    
            सचिन तेन्दूलकर ने कहा कि फुटबाल और विश्व खेल जगत ने आज महानतम खिलाडियों में एक को खो दिया है। ईश्वर आत्मा को शांति प्रदान करे। व्हीव्हीएस लक्ष्मण ने भी मेराडोना के आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया। भारत के पूर्व फुटबालर आईएम विजयन ने कहा कि फुटबाल के भगवान..भगवान आपकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *