बच्चों से मारपीट मामले को लेकर तैश में आया पति..पत्नी को उतारा मौत के घाट..घेराबन्दी से.. पकड़ाया आरोपी..बच्चे चाइल्ड लाइन भेजे गए

बिलासपुर—–तोरवा पुलिस ने महमंद में पत्नी को कुल्हाड़ी की वार से मौत के घाट उतारने वाले फरार आरोपी पकड़ा है। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि उसकी पत्नी बच्चों के साथ हमेशा मारपीट करती थी। समझाने के बाद भी वह बाज नहीं आती थी। इसके चलते वह तैश में आकर पत्नी को कुल्हाड़ी की वार से मौत के घाट उतार दिया है। 
 
                तोरवा थाना प्रभारी ने बताया कि 8 अक्टूर 2021 की रात्रि को करीब साढ़े 11 बजे फोन से सूचना मिली कि महमंद बाईपास के पास एक महिला अपने घर में लहूलुहान हालत में पड़ी है।  सुचना पर तत्काल थाना उपनिरीक्षक ह्रदय पटेल पेट्रोलिंग स्टाफ को लेकर महमद के  कोटवार के साथ घटनास्थल पहुंचे। पुलिस टीम ने मौके पर पाया कि राजेंद्र रजक के मकान मे महिला फर्श पर खून से लथपथ पड़ी हुई है। जांच पड़ताल के दौरान महिला को मृत पाया गया।
 
           हृदय पटेल ने मामले की जानकारी तत्काल थाने को दिया। घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गयी। पुलिस कप्तान दीपक झा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उमेश कश्यप ने त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया।
 
           थाना प्रभारी  सुखनंदन पटेल ने बताया कि पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचकर घटना के संबंध में जानकारी ली गयी। पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि मृतिका का पति राजेंद्र रजक अपने बच्चों के साथ घटना के बाद  घर से फरार है। जानकारी के बाद पुलिस की अलग अलग टीम को  तत्काल संदेही राजेंद्र रजक का पतासाजी के लिए रवाना किया गया।
 
           थाना प्रभारी ने बताया कि संदेही आरोपी राजेन्द्र रजक को महमद के गांव की एक गली में छिपा होना पाया गया। घेराबन्दी कर आरोपी संदेही को धर दबोचा गया। राजेन्द्र रजक ने पूछताछ के दौरान हत्या करने की बात को कबूल किया। आरोपी राजेंद्र रजक की निशान देही पर घटना में उपयोग किए गए कुल्हाड़ी को बरामद किया गया। राजेन्द्र ने बताया कि मृतिका पूर्णिमा पासी को अपने बच्चे से मारपीट करने से मना करता था। बावजूद इसके मृतिका अपनी आदतों से बाज नहीं होकर बच्चो के साथ मारपीट करती थी। तंग आकर उसने कुल्हाड़ी से पूर्णिमा पासी पर वार हत्या कर दिया।
 
                     सुखनन्दन पटेल ने बताया कि जांच पड़ताल के बाद मृतिका के दोनों बच्चों को सरपंच पति अनिल निषाद के पास सुरक्षित रखवाया। इसके बाद दोनों बच्चों को चाइल्ड लाइन भेजा गया। कुल्हाड़ी को जब्त करने के अलावा मृतिका के खून लगे कपड़े को भी बरामद किया गया। पुलिस ने आरोपी को ज्यूडिशियल रिमांड पर भेजा गया है। 
 
पूरे घटनाक्रम में उप निरीक्षक ह्रदय  शंकर पटेल आरक्षक साहेब अली अनूप किंडो रोहित पाटले अश्वनी पटेल और थाना स्टाफ की विशेष भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *