सामान्य सभा में जर्जर सड़क की गूंज ..छाया माइनर निर्माण का भी मुद्दा.. सभापति ने पूछा..खाली भवन में कब आएंगे डॉक्टर

बिलासपुर—एक दिन पहले जिला पंचायत में हंगामेदार बैठक हुई। बैठक के बीच रेत का मुद्दा नहीं उठने के बाद कुछ सदस्यों में नाराजगी भी देखी गयी। बैठक के दौरान विधायक और संसदीय सचिव रश्मि सिंह ने भी शिरकत किया। इस दौरान जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने भी अधिकारियों के सामने कुछ नामजद गांवो की समस्या को प्रमुखता के साथ पेश किया।
 
               एक दिन पहले जिला पंचायत की हंगामेदार बैठक में जहां मस्तूरी क्षेत्र में मिट्टी डालने को लेकर मामला उठा।  तो वहीं जिला पंचायत सभापति ने कुछ गांवों में मूलभूत सुविधाओं के नहीं होने से आने वाली परेशानियों को पेश किया। 
 
               जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने बैठक के दौरान  जिला पंचायत क्षेत्र के विभिन्न समस्याओं को प्रमुखता से रखा। विभागीय अधिकारियों को अवगत कराते त्वरित निराकरण की बात कही। अंकित गहरा ने ग्राम पंचायत पौंसरा,बैमा, कोरमी में पेयजल की समस्या को सामने रखा। नल उत्खनन कराए जाने की मांग की। 
 
           इस दौरानर जिला पंचायत सभापति ने गांवों में प्राथमिक उप स्वास्थ्य केंद्र में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी मांगी। गौरहा ने बताया कि बताए गए गांवों में भवन निर्माण तो हो गया लेकिन डॉक्टरों की क्षेत्र मे भारी कमी है। केवल भवन निर्माण होने से ग्रामीणों की स्वास्थ्य समस्याएं दूर नहीं होंगी।
 
                ग्राम पंचायत नंगोई से उरैहापारा रोड और लगरा से उर्तुम रोड की स्थिति ठीक नहीं है।   सेंदरी- मौपका बाईपास रोड जर्जर होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जर्जर सड़क और लगातार हो रही दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने की बात अंकित गौरहा ने कही। जल संसाधन विभाग को सेमरा में सिंचाई को लेकर माइनर स्वीकृत करने के लिए अंकित अधिकारियों को निर्देश दिया। उन्होने कहा कि समय पर पानी की आपूर्ति नहीं होने से खड़ी फसल बरबाद हो रही है। निर्देश को अधिकारियों ने गंभीरता से लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *