72 घंटे में सुलझ गयी नई पुरानी मर्डर मिस्ट्री…तीसरी को बनाया था निशाना ..दोनों दुर्दान्त अपराधियों को मुंगेली पुलिस ने बिलासपुर से किया गिरफ्तार

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)—विधवा, परित्यक्तता और अकेली रहने वाली महिलाओं को प्रेमजाल में फंसाकर हत्या करने वाले सीरियल कीलर को मुंगेली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फास्टरपुर में महिला की क्षत विक्षत लाश मिलने के बाद 72 घंटे के अन्दर पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाया लिया है। मामले का खुलासा आज मुंगेली में एडिश्नल एसपी पी.के चंदेल ने किया है।मुंगेली जिला के थाना फास्टरपुर स्थित सिंघनपुर गांव में 3 नवम्बर को अज्ञात महिला का क्षत विक्षत शव मिलने की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है।  पुलिस अधीक्षक मुंगेली  अरविंद कुमार कुजूर के निर्देश में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुंगेली  के.पी. चंदेल की अगुवाई में अपराधी को धर दबोचा गया है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 302, 201 तहत कार्रवाई की । CGWALL NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने यहां क्लिक कीजिए व रहे देश प्रदेश की खबरों से अपडेट
 
संदेही और साथी ने किया मर्डर
 
                          मामले की जानकारी के बाद पुलिस घटनास्थल पहुंची। अज्ञात मृतक महिला के पास से एक फोटो पाया गया। पुलिस ने फोटो को वाट्सअप के जरिए आसपास के थानों को भेज दिया। इसी दौरान मुंगेली पुलिस को जानकारी मिली कि फोटो से मिलती जुलती महिला सरकण्डा थाना क्षेत्र के चिंगराजपारा की रहने वाली है। खबर मिलते ही मुंगेली पुलिस तत्काल महिला के संबंध में पूछताछ तेज कर दी। पुलिस को जानकारी मिली कि महिला के पास मिली फोटो को संतु साहू ने खींचा है। पुलिस ने मामले को लेकर संदेही संतु साहू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। 
 
                कड़ाई से पूछताछ करने पर संदेही संतु साहू ने मृतका का नाम शिवकुमारी साहू बताया। संतु ने चौकाने वाला खुलासा किया कि उसका मृतक महिला से प्रेम संबंध था। उसके साथ अवैध संबध भी बनाया। महिला ने इसी दौरान शादी का दबाव बनाया।
 
           संतु साहू ने पुलिस को बताया लगातार शादी के लिए दबाव बनाए जाने से परेशान होकर उसने अपने साथी शुभम वैष्णव के एक प्लान बनाया। महिला को घुमाने के बहाने लाल रंग की मोटर सायकल पैशन प्रो सीजी 10 एए 9765 से खुड़िया, गौरकापा ले गए। पूर्व नियोजित स्थान पर पहुंचे ही महिला को उतारकर सिंघनपुरी निवासी देवव्रत सिंह के धान के खेत में दोनों ने गमछा से महिला का गला घोंटकर हत्या कर दिया। इसके बाद लाश को खेत में छोड़ फरार हो गये।
 
जुलाई 2019 में हुऐ अंधे कत्ल का खुलासा
   
            जानकारी हो कि पुलिस ने घटना के तौर तरीके को बारीकी से अध्ययन किया । फास्टरपुर अंतर्गत ही पूर्व में उसी स्थान पर 22 जुलाई 2019 को एक अज्ञात महिला का गला घोंट कर हत्या कर लाश फेंकने की सूचना पुलिस को मिली थी। मामले में पुलिस ने थाना फास्टरपुर में अपराध आईपीसी की धारा 302, 201 के तहत अपराध भी कायम किया है। लेकिन अभी तक ना तो अज्ञात महिला की पहचान हो पायी। और ना ही अपराधियों को पकड़ा ही जा सका है।
 
                    चूंकि 3 नवम्बर को मिली महिला की शिनाख्तगी और आरोपी की पतासाजी पुलिस कर रही थी। इसी दौरान पूर्व में हुई घटना के संबंध में साइबर सेल की मदद से तकनीकी साक्ष्य एकत्रित किया गया। पुलिस ने संतु साहू से कड़ाई से पूछातछ की। आरोपी ने जुर्म स्वीाकार किया। संतु ने बताया कि 22 जुलाई 2019 को मिली लाश जोरापारा निवासी रूखमणी राजपूत है। 
 
                           आरोपियों के बताये गए पते पर पुलिस टीम ने पहुंचकर पूछताछ की। लोगों ने उक्त महिला यानि रूखमणि को 21 जुलाई 2019 को घर से गायब होना बताया। परिजनों ने पुलिस को बताया कि रूखमणि की काफी खोजबीन की। लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। और गुमशुदगी की रिपोर्ट ही दर्ज कराया है। 
 
फोटो से हुई पहचान
 
           लाश की फोटो और पहने कपड़े को देख कर मृतका के भाई मोहन राजपूत ने बहन रूखमणी राजपूत की पहचान की। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि रूखमणी राजपूत से प्रेम संबंध था। तात्कालीन समय रूखमणि ने 15 हजार रूपये बीसी के लिये मांगा था। बाद में मांगे जाने पर महिला ने पैसे देने से इँकार कर दिया। इसके बाद शुभम वैष्णव के साथ महिला को बहला फुसला कर पूर्व नियोजित योजनानुसार कोटा, लोरमी, खाम्ही क्षेत्र में दिन भर घुमाया। रात होने पर सिंघनपुरी बघमार रोड में देवव्रत सिंह के खेत के पास गाड़ी से महिला को उतार कर पत्थर से सिर पर वार कर घायल कर दिये। घायल महिला के गले में गमछा कस कर उसकी हत्या कर लाश को घसीटते हुए खेत के बाद मेड़ के नीचे फेंक कर फरार हो गए।
 
        मुंगेली एडिश्नवल एसपी के.पी. सिंह ने खुलासे मे बताया कि आरोपियों ने पूछताछ के दौरान दोनों हत्या में शामिल होना बताया। दोनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेजा गया है। 
 
  तीसरे षिकार की फिराक में चढ़ा पुलिस के हत्थेः
 
           मुंगेली पुलिस अधिकारी ने खुलासा किया कि आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से अपनी वर्तमान प्रेमिका की फोटो घटनास्थल पर ही छोड़ दिया । ताकि तीसरी महिला को आसानी से निशाना बनाया जा सके। और लोगों को लगे कि खेत में पड़़ी लाश फोटो वाली महिला की है। लेकिन आरोपी अपने ही जाल में फंस गए।
 
गुत्थी सुलझाने वाले अधिकारी और जवानों के नाम
 
            पूरे मामले में उप निरीक्षक अंजोर लाल चतुर्वेदी, सहायक उप निरीक्षक सालिक राम राजपूत, सहायक उप निरीक्षक बुधराम साहू, प्रधान आरक्षक मनीष सिंह, माधव टांडिया, राम कुमारी यादव, आरक्षक दिलीप साहू, दयाल गावस्कर, गिरीराज सिंह, सीताराम बर्मन, रामशंकर साहू, म.आर. आशा यादव, पिंकी राजपूत का विशेष सहयोग रहा।
 
दोनो मामला फास्टरपुर का..आरोपी बिलासपुर से गिरफ्तार
 
            दो अज्ञात महिलाओं के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने के बीच पुलिस से जानकारी मिली कि दोनों ही हत्या फास्टरपुर थाना क्षेत्र में किया गया। दोनों ही मा्मले में अपराध दर्ज किया गया है। रूखमणि हत्या मामले में अज्ञात के खिलाफ अपराध आईपीसी की धारा 307,201 के तहत 22 जुलाई 2019 को दर्ज किया गया है। जबकि शिवकुमारी की हत्या का अपराध अज्ञात आरोपियों के खिलाफ 3 नवम्बर 2020 को दर्ज किया गया है।
 
पकड़े गए आरोपियों का पता ठिकाना
 
                पकड़े गए दोनों आरोपियों में सतूं पिता फेरूमल चांटीडीह शीतला मंदिर के पास रहता है। संतू साहू मूल रूप से मुंगेली जिला के कुकुरहट्टा गांव थाना फास्टरपुर का रहने वाला है। दूसरा आरोपी शुभम वैष्णव पिता भीखम वैष्णव उम्र 19 साल मोहभट्ठा थाना सरगाँव जिला मुंगेली का रहने वाला है। वर्तमान में बबला पेट्रोल पम्प गली डबरीपारा में रहता है।
 
 दोनों मृतका का पता ठिकाना
 
            वही मृतक महिला रूखमणी बाई राजपूत पिता स्व. मिठाईलाल राजपूत उम्र 32 साल जोरापारा सरकंडा की निवासी थी। जबकि शिवकुमारी पति मनोहर साहू उम्र 30 साल निवासी  कोईलारी छटन जिला मुंगेली की मूल निवासी है। हाल फिलहाल वह डबरीपारा थाना सरकंडा में रहती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *