पुलिस कप्तान की मरही माता दरबार में हाजिरी..सामुहिक बैठक में रक्षा समिति का किया गठन..कहा..1-1 गतिविधियों पर रहेगी नजर.दिया कार्रवाई का निर्देश

बिलासपुर—पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल आलाधिकारियों के साथ भनवारटंक पहुंचे। उन्होने मरहीमाता के दरबार में मत्था टेका..पूजा अर्चना कर आशीर्वाद मांगा । मंदिर प्रांगण में सामुहिक बैठक कर मंदिर रक्षा समित का गठन किया। पुजारी से बातचीत कर सुरक्षा को लेकर जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया। प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि दर्शनीय स्थल की एक एक गतिविधियों पर मंदिर रक्षा समिति की नजर रहेगी। पुलिस के जवान भी पूरे समय तैनात रहेंगे।
 
                 बताते चलें कि दो दिन पहले रविवार को भनवारटंक स्थित मरही माता मंदिर क्षेत्र से लगे जंगल में हत्या मामले को सुलझाने केे बाद पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल अधिकारियों के साथ मरही माता का दर्शन करने पहुंचे। क्षेत्र का मुआयना के बाद पुलिस कप्तान ने अधिकारियों के साथ बैठक कर मंदिर रक्षा समिति का गठन किया। पुलिस कप्तान ने कहा कि अब मंदिर की एक एक गतिविधियों पर पुलिस की नजर रहेगी।
        
         जानकारी हो कि क्षेत्र के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल भनवारीटंक स्थित मरही माता का दर्शन करने दूर दूर से लोगों का आना होता है। पिछले कुछ सालों से क्षेत्र में अपराधिक गतिविधियों में भी अप्रत्याशित बृद्धि हुई है। दो दिन पहले ही मंदिर से कुछ दूर जंगल में हत्या का मामला भी सामने आया है।
 
              तमाम बातों को ध्यान में रखते हुए पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल बुधवार को अधिकारियों के साथ मंदिर पहुंचे। माता के दर्शन और पूजा अर्चना के बाद पुलिस कप्तान ने सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर मंदिर प्रांगण में सामुहिक बैठक की। बैठक में मरही माता मंदिर समिति सदस्य, स्थानीय गणमान्य लोगों के अलावा राजस्व अधिकारियों ने शिरकत किया। 
 
                 बैठक के दौरान पुलिस कप्तान को मंदिर समिति प्रबंधन ने बताया कि प्रत्येक रविवार को मंदिर में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ हो जीती है। दूर दूर से लोग परिवार के साथ माता का दर्शन करने पहुंचते हैं। इस बीच कुछ शरारती और नशेड़ी तत्वों का भी जमावाड़ा होता है। शराब पीेने के बाद लोग  आपस मे वाद विवाद करते । असामाजिक तत्वों को नियंत्रित करने पुलिस बल की सख्त जरूरत है।
 
               पुलिस अधीक्षक ने प्रबंधन की मांग को गंभीरता से लेते हुए प्रत्येक रविवार को बल तैनात करने का निर्देश दिया। इसके अलावा प्रशांत अग्रवाल ने एसडीओपी कोटा और बेलगहना चौकी प्रभारी को तात्काल बेहतर और संख्यात्मक बल लगाने का आदेश भी दिया।
 
              प्रशांत अग्रवाल ने मंदिर समेत आस पास के क्षेत्र में सार्वजनिक रूप से शराब सेवन करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की बात कही। आश्वासन दिया कि मन्दिर प्रबंधन और प्रशासन मिलकर व्यवस्था को बेहतर बनाएंगे। 
 
             बैठक के दौरान पुलिस कप्तान ने सामुदायिक पुलिसिंग के तहत क्षेत्र के लोगो को जोड़कर 20 सदस्यीय मंदिर रक्षा समिति का भी गठन किया। उन्होने बताया कि प्रत्येक रविवार, बुधवार और अन्य दिनों में पुलिस के साथ मिलकर मंदिर में आने वाले असामाजिक तत्वों पर नजर रहेगी। समीक्षा बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय ध्रुव, एसडीएम आनंदरूप तिवारी,एसडीओपी रश्मित कौर चावला, तहसीलदार बेलगहना, थाना प्रभारी कोटा, चौकी प्रभारी बेलगहना, पुलिस स्टॉफ, मंदिर समिति के सदस्य, क्षेत्र के लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *