मेरा बिलासपुर

फरार आरोपियों की सम्पत्ति होगी कुर्क ..आईजी मीणा का आदेश..फरारियों पर धारा 82 और 83 के तहत करें कार्रवाई

सीआरपीसी की धारा 82, 83 के तहत संपत्ति कुर्क किए जाने का आदेश

बिालसपुर—पुलिस महानिरीक्षक बद्री नारायण मीणा ने रेंज के पुलिस राजपत्रित अधिकारियों के साथ बैठक अपराध और अपराधियों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने को कहा है। मीणा ने समीक्षा बैठक के दौरान सभी राजपत्रित अधिकारियों को निर्देश दिाय कि महिला एवं बच्चों संबंधी गंभीर अपराधों को गंभीरता से लिए जाने की जरूरत है। अपराधों की विवेचना के दौरान साईंटिफिक एविडेंस कलेक्शन करें। ऐसे आरोपी जो अग्रिम जमानत के बाद फरारी में हैं। उनकी जमानत निरस्त किए जाएं। जो आरोपी न्यायालय से जमानत मिलने के बाद हैं उनके खिलाफ सीआरपीसी की धारा 82, 83 के तहत संपत्ति कुर्की किए जाने को कहा।
                      रेंज आईजी बद्रीनारायण मीणा ने संभाग के सभी राजपत्रित पुलिस अधिकारियों के साथ 3 जनवरी को समीक्षा बैठक जरूरी दिशा निर्देश दिया। मीणा ने लंबित अपराधों की समीक्षा करते हुए जिलों में महिला एवं बच्चों संबंधित अपराधों का संवेदनशीलता के साथ समयावधि के अन्दर त्वरित निराकरण करने को कहा। 
     मीणा ने कहा कि जिले के थाना/चौकी में लंबित महिला एवं बच्चों से संबंधित अपराधों का गंभीरता के साथ विवेचना की जरूरत है। अपराधों का समयावधि के भीतर निराकरण नहीं होने पर संबंधित विवेचक जिम्मेदार होगा। विवेचक पर अनुशासनात्मक कार्यवाही भी होगी।
           आईजी ने बताया कि जिलों में महिला एवं बच्चों से संबंधित गंभीर प्रकरणों में जिनमें अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है, ऐसे प्रकरणों में विशेष टीम गठित कर संभावित ठिकानों पर  दबिश देकर फरार आरोपियों की  गिरफ्तारी किया जाए। महिलाओं, बच्चों से संबंधित प्रकरणों में त्वरित कार्यवाही किया जाए। अभियान चलाकर समय-सीमा के भीतर विधिसम्मत कार्रवाई कर आरोपियों को सही ठिकाने में भेजा जाए। 
 गंभीर अपराधों की विवेचना के स्तर में गुणवत्ता लाएं। अपराध डायरियों की नियमित समीक्षा करें। विवेचना की कार्रवाई  गुणवत्तापूर्वक हो। कोई भी अपराधी बचने नहीं पाए। समीक्षा के दौरान आईजी ने पाया कि कुछ प्रकरणों में आरोपी अग्रिम जमानत के बाद फरार है। , ऐसे आरोपी की अग्रिम जमानत निरस्त कराने के लिए न्यायालय में जमानत निरस्तीकरण के लिए  प्रतिवेदन पेश करें। साथ ही ऐसे आरोपी जो न्यायालय से जमानत होने के बाद फरार हैं उनके खिलाफ धारा 82, 83 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई कर संपत्ति कुर्की की कार्यवाही करें।
समीक्षा बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सक्ती श्रीमती गायत्री सिंह, प्रशिक्षु भापुसे. के अधिकारी में जिला बिलासपुर से श्री संदीप कुमार पटेल, सुश्री पूजा कुमार और जिला कोरबा से श्री रॉबिन्सन गुरिया तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक(आईयूसीएडब्ल्यू) बिलासपुर श्रीमती गरिमा द्विवेदी, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कटघोरा श्री ईश्वर प्रसाद त्रिवेदी, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी धरमजयगढ़ श्री दीपक मिश्रा, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी चाम्पा      श्री लीलाशंकर कश्यप सहित रेंज कार्यालय में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती दीपमाला कश्यप उपस्थित रहीं। 

छत्तीसगढ़ में जनता दुखी ... और सरकार खुश है.. 'आप ' सांसद नेकहा इस बार बनेगी हमारी सरकार
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS