डकैती को अंजाम देने वाले हथियार बन्द नकाबपोश पूर्व नक्सली गिरफ्तार..पुलिस कप्तान ने बताया..6 गिरफ्तार, दो फरार..नगद समेत सोना चांदी बरामद

रामानुजगंज (पृथ्वीलाल केशरी )–पूर्व नक्सलियों ने घर में घुसकर लूटपाट और डकैती को अंजाम दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है। आरोपियों को पकड़ने में पुलिस को सफलला मिली है। पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने बताया कि  सभी आरोपी पहले भी लुट हत्या जैसे गंभीर अपराध को अंजाम दिए हैं।
 
                      बलरामपुर-रामानुजगंज पुलिस ने चलमली थाना क्षेत्र के मानपुर गांव में बंदूक के दम पर लूटपाट और डकैती को अंजाम देने वालों को गिरफ्तार किया है। पुलिस कप्तान ने खुलासा किया कि पकड़े गए सभी 6 डकैत सजायाप्ता पुराने नक्सली हैं। आरोपियों पर लूटपाट डकैती समेत हत्या के कई मामलों में अपराध दर्ज है। 
 
                                 पत्रकारों को बलरामपुर पुलिस कप्तान ने बताया कि डकैतों के पास पास से 315 बोर बन्दूक बरामद किया गया है। आरोपियों से 5 हजार रुपए नगद भी जब्त किए गए हैं। सभी आरोपीयो को जेल भेजा गया है।
 
पुराने नक्सलियों ने दिया डकैती को अंजाम
 
                       खुलासा में रामकृष्ण साहू के अनुसार डकैती की वारदात को थाना चलमली क्षेत्र के गांव मानपुर निवासी रविन्द्र गुप्ता के घर में 12 जनवरी की रात्रि को अंजाम दिया गया। मामले की शिकायत पीड़ित परिवार ने दूसरे दिन थाना पहुंचकर दिया। रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि 6 बन्दूकधारी नकाबपोश घर में घुसकर परिजनों को बंधक बनाया। घर में रखे  सोना-चांदी और नगद रकम समेत दो लाख बीस हजार रुपयों को पार कर दिया। इसके अलावा मारापीटा भी।
 
         रिपोर्ट दर्ज करने के बाद घटनास्थल पहुंचकर पुलिस ने हालात का जायजा लिया। मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच पड़ताल को तेज किया गया। मुखबीरों को दौड़़ाया गया साथ ही पुलिस टीम को संदेहियों पर नजर रखने का निर्देश दिया गया। इसी बीच मुखबीर और सूत्रों के आधार पर 6 संदेहियों को धर दबोचा गया।
 
इस तरह पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी
 
          रामकृष्ण साहू ने खुलासा किया कि जांच पड़ताल के दौरान जानकारी मिली कि जिले के त्रिकुंडा थाना अंतर्गत गोवर्धन पहाड़ी पर 5-6 संदिग्ध लोगों को देखा गया है। पुलिस ने संदेह के आधार पर सभी लोगों को हिरासत में लिया। सख्ती से पूछताछ के दौरान सभी आरोपी टूट गए। सभी ने मिलकर अपराध को कबूल किया। आरोपियों को गिरफ्तार आरोपियों को धर दबोचा गया। पकड़े गए सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 395,120 (बी) और आर्म्स एक्ट 25, 27 के तहत अपराध दर्ज किया गया। सभी को जेल दाखिल कराया गया है। 
 
आरोपियों ने डकैती की ऐसी बनाई योजना
 
              पुलिस कप्तान ने बताया कि इन सभी आरोपियों की मुलाकात जेल में हुई थी। जेल से छूटने के बाद पूर्व नक्सली नेपाली उर्फ प्रवीण खेस के कहने पर सभी ने नक्सलियों की तर्ज पर लेवी वसूलने की योजाना बनाई। इसके लिए हथियार बन्द संगठन तैयार किया।  गिरफ्तार आरोपी प्रवीण खेस उर्फ नेपाली पूर्व नक्सली गतिविधियों से जुड़ा रहा है। पूर्व में जेजेएमपी नक्सली संगठन का एरिया कमांडर रह चुका है। इससे पहले भी कई मामलों में  जेल की हवा खा चुका है।
 
सिर उठाने से पहले कुचला गया
 
           डकैती के अपराध में पकड़ा गया सुंदरलाल साहू, मुखलाल यादव भी पूर्व में नक्सली टीम का हिस्सा रह चुके हैं। इसके अलावा फरार दो आरोपी भी पूर्व नक्सली हैं। लगभग एक दशक तक नक्सली दंश झेलने के बाद बलरामपुर जिले की स्थिति सुधरने लगी थी। अचानक पूर्व नक्सलियों का संगठन एक बार फिर सक्रिय होने लगा था। लेकिन पुलिस ने सजकता दिखाते हुए नक्सल गतिविधियों की आग भड़कने से पहले बुझा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *