..कल तक जो करते थे चुनाव का बहिष्कार आज बनवा रहे वोटर आईडी और आधार कार्ड

दंतेवाड़ा।जिला प्रशासन की पहल से अब आत्मसमर्पित नक्सलियों के मन में संविधान के प्रति आश जागी है। अब उन्हें भी यकीन हो चला है कि न्याय-कानून, संविधान और अहिंसा की राह पर चलकर ही उनका और उनका परिवार विकास की बयार देख पाएंगे और जब उनके साथ जिला प्रशासन हो जो उन्हें नई पहचान, रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य, भोजन, आवास आदि आवश्यक बुनियादी सुविधाएं मुहैया करा रही है तो वे भी आगे बढ़कर समाज की मुख्यधारा से जुड़ने को तैयार हैं।विगत एक वर्ष में 375 नक्सलियों ने आत्मसर्पण किया है। जिनके पुनर्वास के लिए कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में रणनीति बनाई गई। जिसके तहत आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाने सर्वे कराया जा रहा है ताकि उन्हें सभी सामाजिक सुविधाएं मिल सके और वे भी समाज की मुख्यधारा से जुड़ सके।आत्मसमर्पित नक्सलियों के सामने सबसे बड़ी दिक्कत यह थी कि उनके उनके पास कोई भी पहचान पत्र नहीं था।

तो सबसे पहले उनका राशन कार्ड, आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र बनवाया गया अब तक 267 लोगों के राशन कार्ड, 278 लोगों के आधार कार्ड, 305 लोगों के मतदाता परिचय पत्र बनवाया जा चुका है, साथ ही 263 लोगों का बैंक में खाता खोला गया है ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की आर्थिक मदद दी जाती है तो वो उनके खाते में जमा हो और कोई बाहरी व्यक्ति उसमें दखल न दे सके। 88 लोगों का स्मार्ट कार्ड भी बन चुका है।विभिन्न योजनाओं के तहत तीन आत्मसमर्पित नक्सलियों का रिवर्स नसबंदी भी कराया गया है, 104 आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासकीय सेवा में नियुक्त हेतु प्रशिक्षण दिया गया है, 16 आत्मसमर्पित नक्सलियों का मुख्यमंत्री कन्या विवाह के अंतर्गत सामाजिक रीति रिवाज के तहत विवाह कराया गया है, 46 लोगों का यात्री किराए में 50 प्रतिशत छूट का प्रमाण पत्र बनाया गया है, 40 आत्मसमर्पित नक्सलियों को वाहन चलाने का प्रशिक्षण देकर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाया गया है इसके अतिरिक्त 21 आत्मसमर्पित नक्सली परिवार को कृषि कार्य हेतु ट्रैक्टर, मुर्गी पालन हेतु शेड, बकरी पालन हेतु शेड, तालाब निर्माण, भूमि समतलीकरण में कार्य, मनरेगा जॉब कार्ड बनवाया जा चुका है। आत्मसमर्पित नक्सलियों के बच्चों को स्कूल में भर्ती कर निर्धारित छात्रवृत्ति एवं छात्रावास की सुविधा का लाभ भी दिया जा रहा है, साथ ही 36 परिवार के लिए पुलिस लाईन कारली के पास सर्व सुविधायुक्त 36 आवास, 20 दुकान शेड व 20 बाजार शेड निर्माणाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *