क्या Insulin के बगैर भी शुगर हो सकती है कंट्रोल, जानिए क्या है तरीका

डायबिटीज (Diabetes) मरीजों को अपने बल्ड शुगर लेवल को कंट्रोल (Blood Sugar Level Control) रखने के लिए कई दवाएं, इंसुलिन (Insulin) या फिर कई तरह के परहेज करने पड़ते हैं. ज्यादातर लोगों को लगता है कि डायबिटीज के हर मरीज को दवाओं (Diabetic patient) या इंसुलिन की जरूरत पड़ती ही है लेकिन ऐसा नहीं है.

हाई ब्लड शुगर (High Blood Sugar) लेवल को मैनेज करने के लिए हर डायबिटीज मरीज को इसकी जरूरत नहीं पड़ती. कई मामलों में बिना इंसुलिन के ही शुगर को कंट्रोल रखा जा सकता है. कई घरेलू उपायों से इंसुलिन के बगैर भी डायबिटीज कंट्रोल होती है. वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्हें इंसुलिन की जरूरत तो होती है लेकिन कुछ कारणों से उन्हें इसे लेने की सलाह नहीं दी जाती है.

इंसुलिन के बिना ब्लड शुगर लेवल करना संभव है लेकिन इसके लिए कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है. इंसुलिन लिए बगैर टाइप 2 डायबिटीज  (Type 2 diabetes) कंट्रोल हो सकती है. आईए जानते हैं अपनी लाइफस्टाइल या फिर खानपान में कैसे बदलाव करने से आपकी शुगर कंट्रोल रहती है. कैसे आप अपनी हेल्दी आदतों से इसे कंट्रोल में रख सकते हैं. 

आपको बता दें कि टाइप-2 में इंसुलिन बनने की मात्रा बहुत कम हो जाती है या फिर शरीर उसके प्रति संवेदनशील नहीं रहता है इसलिए टाइप-2 डायबिटीज में मरीज को इंजेक्शन के जरिये इसे लेने की सलाह दी जाती है. 

डायबिटीज मैनेजमेंट के लिए पौष्टिक और संतुलित डाइट (Healthy Diet) बहुत महत्वपूर्ण है और डायबिटिक्स को ब्लड शुगर लेवल मैनेज करने के लिए हेल्दी डाइट फॉलो करना ही होता है. डाइटरी फाइबर, प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर फूड्स खाने चाहिए.

हर दिन कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज (Exercise and Walking) और वॉक करें. खाने के तुरंत बाद कम से कम 15 मिनट वॉकिंग करनी चाहिए. सप्ताह में कम से कम 5 दिन वर्कआउट जरूर करें.

तनाव और थकान (No stress) को कम करने के लिए रोजाना भरपूर नींद सोएं

ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए बहुत से लोगों को इंसुलिन की जगह गोलियां खाने की सलाह दी जाती है लेकिन,इन दवाओं का सेवन शुरू या बंद करने से पहले अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें

बॉडी मास इंडेक्स (Body Mass Index) भी डायबिटीज के लक्षणों को गम्भीर बनाने का काम कर सकते हैं. इसलिए,टाइप-2 डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए हेल्दी बीएमआई का ध्यान रखें, इसके लिए वजन कम करें

जो लोग मोटापे (obesity)  शिकार हैं अक्सर डॉक्टर उन्हें टाइप-2 डायबिटीज को कम करने के लिए बेरिएट्रिक सर्जरी की सलाह देते हैं.  इस सर्जरी से मरीज अपना मोटापा भी कम कर सकते हैं और साथ ही टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को भी काम कर सकते हैं लेकिन यह सर्जरी मरीज डॉक्टर की सलाह पर ही कराएं.अच्छी लाइफस्टाइल और ओरल मेडिकेशन के जरिए टाइप 2 डायबिटीज कंट्रोल हो सकती है. 

Disclaimer: हमारा लेख केवल जानकारी प्रदान करने के लिए है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *