शिक्षा से संस्कृति को जोड़ने की कला का प्रशिक्षण , 6 शिक्षक हुए शामिल

बिलासपुर।शिक्षा से संस्कृति को जोड़ने की कला का प्रशिक्षण सरकारी स्कूल के व्याख्याताj वर्ग के छह शिक्षको ने पूरा किया है। यह ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यशाला कार्यक्रम 5 सितंबर से 14 सितंबर तक सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र सीसीआरटी की क्षेत्रीय शाखा दमोह ने आयोजित किया था।

इस कार्यशाला के संबंध में जानकारी देते हुए शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला बिजोर की व्याख्याता मधु जयसवाल ने बताया कि सीसीआरटी की कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य शिक्षा को संस्कृति से जोड़ना था। प्रदेश का नेतृत्व कर रहे सभी शिक्षकों ने छत्तीसगढ़ की परंपरा संस्कृति और त्योहारों मान्यताओं को हमारी शिक्षा पद्धति में कैसे जोड़ सकते हैं क्या कुछ शिक्षा व्यवस्था में नया सामने ला सकते हैं क्या कुछ नवाचार कर सकते हैं इस पर चर्चा संवाद और प्रशिक्षण हुआ है सभी प्रतिभागियों ने संस्था की ओर से मिले टास्क को पूरा किया आपने प्रोजेक्ट रिपोर्ट प्रस्तुत की है।

इस कार्यशाला में शिक्षिका मधु जायसवाल की ओर से छत्तीसगढ़ के प्रमुख त्यौहार हरेली, भोजली, तीजा,पोरा छेरछेरा आदि का वर्णन किया इसके अलावा छत्तीसगढ़ तिहार से संबंधित विभिन्न प्रकार के नाच का के बारे में प्रकाश डालते हुए इनके राजकीय गीत अरपा पैरी के माध्यम से बताया गया कि स्कूलों और अन्य संस्कृति कार्यक्रमो में छत्तीसगढ़ नदी और प्राकृतिक संसाधनों का महत्व बच्चे समझ रहे दूसरे कहीं ना कहीं सहेज कर रखने में अपनी भूमिका निभाएंगे गीतों के माध्यम से ही बच्चों का अवचेतन मन पर्यावरण मित्र बनाने में मदद करेगा

व्याख्याता विनीता दुबे के द्वारा छत्तीसगढ़ के पारंपरिक व्यंजन के बारे में बताया गया शिक्षिका कामना पाण्डेय के द्वारा बस्तर के घोटूलपरंपरा एवं अबूझमाड़ के वस्तु विनिमय और आदिवासी जनजातियों का वर्णन किया गया। सुनील शर्मा ने रामनामी संप्रदाय छत्तीसगढ़ में विशेष प्रकाश डाला गया, रीटा मिश्रा ने छत्तीसगढ़ के खनिज संपदा एवं वन संपदा राष्ट्रीय उद्यान पर प्रकाश जानकारी दी है ।

इस कार्यशाला में 8 राज्यों की 55 व्याख्याताओं ने भाग लिया मधु जयसवाल शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला बिजोर ,कामना पांडेय शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला देवरीखुर्द,विनीता दुबे शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जरहाभाटा, रीता मिश्रा , शासकीय स्कूल घुटकू, रश्मि कश्यप , बानाबेल एवं व्याख्याता सुनील शर्मा शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भाड़ी ने सहभागिता निभाई।
समारोह में इस कार्यशाला से संबंधित कुछ सुझाव मांगे गए. एवं श्रीमतीकामना पांडेय ने संपूर्ण कार्यशाला का फीडबैक दिया गया।
जिसमें ऋषि वशिष्ट निर्देशक सीसीआरटी दिल्ली डॉक्टर संदीप शर्मा उप निर्देशक, एवं अनुज बाजपेई सीसीआरटी दमोह , CCRT प्रशिक्षण कार्यशाला ने छत्तीसगढ़ राज्य की प्रशंसा की. है । इस प्रशिक्षण कार्यशाला में एससीईआरटी रायपुर और , जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय बिलासपुर की भी सहभागिता रही इस ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यशाला की जिला स्रोत समन्वयक मोहम्मद मुर्शलीन खान थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *