एक महीने में दो दारोगा की हत्या, 6 महीने में तीन दर्जन पुलिसकर्मी बने शिकार

Shri Mi
2 Min Read

पटना/ बिहार भाजपा के अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा कि प्रदेश में बालू और शराब माफियाओं को संरक्षण देने वाले अपराध और भ्रष्टाचार के पर्याय राजद के साथ सरकार चलाने वाले ‘बीमार’ नीतीश कुमार से अब राज्य नहीं संभल रहा है।

उन्होंने कहा कि पिछले एक महीने में दो दारोगा की हत्या और 6 महीने में तीन दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी अपराधियों के शिकार बने हैं। बेगूसराय में शराब माफिया द्वारा दारोगा खमास चौधरी की हत्या और एक होमगार्ड जवान को गाड़ी से कुचलकर बुरी तरह घायल करने की घटना पर उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में बालू और शराब माफियाओं ने कोहराम मचा रखा है और सरकार के मुखिया अपनी कुर्सी बचाने के लिए आंख मूंदे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि जिस राज्य की पुलिस सुरक्षित नहीं, वहां की जनता का भगवान ही मालिक है। पिछले महीने भी बालू माफियाओं ने जमुई में एसआई प्रभात रंजन को ट्रैक्टर से रौंद कर जान ले ली थी, पुलिस के एक जवान को बेहरमी से कुचल दिया था।

छह माह पहले बेगूसराय में ही एक अन्य दारोगा की हत्या शराब माफियाओं ने कर दी थी। पिछले दो महीने में नवादा, पटना, मुंगेर, सहरसा, सारण, जहानाबाद, किशनगंज आदि जिलों में 20 से ज्यादा ऐसी घटनाएं घटी हैं, जिसमें अपराधियों व बालू, शराब तथा भू- माफियाओं द्वारा न केवल पुलिस बल पर हमले किए गए, बल्कि उन्हें खदेड़-खदेड़ कर पीटा भी गया।

सम्राट चौधरी ने कहा कि अपराध की बढ़ती घटनाओं से पूरा बिहार थर्रा रहा है।

अपराधियों और माफियाओं के हौसले बुलंद है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का एक दिन के लिए भी सत्ता में रहना न केवल बिहार के लिए हानिकारक है बल्कि बिहार को गर्त में धकेलने जैसा है। ऐसे में मुख्यमंत्री को नैतिक जिम्मेवारी लेते हुए स्वयं इस्तीफा दे देना चाहिए।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close