उड़न सिख ने करोड़ों भारतीयों को रूलाया..कांग्रेस नेता अरविन्द ने कहा..अनन्त काल तक रहेंगे जिंदा

बिलासपुर—कांग्रेस नेता मिल्खा ने करोड़ों भारतीयों को दिल तोड़कर अनन्त यात्रा पर चले गए। उनके निधन से करोड़ों भारतीयों का दिल रोया है। लेकिन मिल्खा सिंह को दुनिया कभी नहीं भूल पाएगी। उनकी यादें हमें जिन्दा रहेगी। यह बातें कांग्रेस ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने कही। शुक्ला ने बताया कि खेल से जुड़ा होने के कारण मिल्खा सिंह हमेशा उनके आदर्श रहे।
 
                   अरविन्द शुकाल ने कहा कि मिल्खा सिंह के निधन की समाचार के बाद उनका दिल बैठ गया है। दुनिया में देश का नाम रोशन करने वाले मिल्का सिंह की मौत संभव नहीं है। क्योंकि वह तो हमारे दिल में हमेशा हमेशा के लिए कैद हैं।
 
                                        शहर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने मिल्खा सिंह नम आंखों से श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि मिल्खा सिंह में हालात बदलने की क्षमता थी। बुरे हालात और विपदाओं पर जीत हासिल कर उन्होने एथलिट की दुनिया में भारत के लिए मिसाल स्थापित किया है। 
 
              अरविन्द ने बताया कि करोड़ों भारतीयों की तरह मिल्खा सिंह ने भी विभाजन का दंश झेला। अपने सामने ही माता पिता और भाई बहनों की हत्या होते देखा। भागकर दिल्ली पहुंचे। इस दौरान जिन्दा रहने के लिए उन्होने बहुत संघर्ष किया। खाना चुराने से लेकर जूता पालिस भी किया।
 
                चौथे प्रयास में सेना की नौकरी मिली। यहीं से उनका एथलिट का जीवन शुरू हुआ। उन्होने अपने 80 अन्तर्राष्ट्रीय स्पर्धा में कुल 77 में जीत हासिल किया। पाकिस्तान में पाकिस्तान के ही अब्दुल ख़ालिक़ को हराया। उनकी रप्तार से अंचभित पाकिस्तान के राष्ट्रपति जनरल अयूब ख़ान ने “फ़्लाइंग सिख” की उपाधि दिया। और इसके बाद दुनिया मिल्खा को भूल गयी।और याद केवल फ्लाइंग सिख रह गया।
    
           अपनी बेबाकी के लिए प्रसिद्ध मिल्खा सिंह ने हमेशा खिलाड़ियों को उत्साहित किया। लेकिन उनका छत्तीसगढ़ में खेल अकादमी खोलने का सपना अधूरा रह गया। अरविन्द ने बताया कि मिल्खा सिंह केवल एथलिट ही नहीं बल्कि समय की दिशा को मोड़ने वाले व्यक्तित्व का नाम है। उनकी अनन्त यात्रा को लेकर दिल टूटा तो जरूर है। लेकिन वह हमेशा हमेशा के लिए अननत काल तक भारतीयों के दिल में राज करेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *