जोन अंदोलन की मिली झलक..आम और खास सभी ने कि बन्द का समर्थन…करोड़ों का व्यवसाय प्रभावित…नागरिक संघर्ष समिति ने कहा..अब दिल्ली सुनेगी आवाज

Editor
6 Min Read
बिलासपुर—-नागरिक संघर्ष समिति के बैनर तले क्या आम क्या खास..सभी लोग अपने आप सड़क पर उतरे…व्यापार जगत ने भी वादा के अनुसा्र वादा निभाया। शहर के कमोबेश सभी दुकानदारों ने ताला लगा कर सड़क पर नागरिक संघर्ष के बैनर तले हवाई सुविधा की मांग को बिलासपुर बन्द को सफल बनाया। युवाओं ने मोटरसायकल रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। दिल्ली को सावधान करते हुए कहा कि हम नहीं चाहते कि जोन आंदोलन की पुनरावृत्ति हो। 
 नागरिक संघर्ष समिति के बैनर तरले बिलासपुर की जनता ने हवाई सेवा की मांग को लेकर बिलासपुर बन्द किया। संघर्ष समिति के सदस्यों ने बताया कि छत्तीसगढ़ का मतलब सिर्फ रायपुर ही नहीं…बिलासपुर भी होता है।
संघर्ष समिति ने सदस्यों ने बताया कि बन्द को पचास से अधिक व्यापारी,प्रोफेशल महिला और युवा संगठनों ने सहयोग दिया।  दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद तक सीधी उड़ान और सर्व सुविधा युक्त एयरपोर्ट की मांग को दुहराया। बन्द को संसदीय सचिव रश्मि सिंह, पर्यटन बोर्ड चैयरमैन अटल श्रीवास्तव जिला सहकारी बैंक चैयरमैन प्रमोद नायक, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय पाण्डेय ने भी सड़क पर उतरकर बन्द का समर्थन किया। सुबह 10  बजे सभी बिलासपुर स्थित राघवेंद्र राव सभा भवन धरना स्थल से निकल कर जनता ने मुख्य बाजार होते हुए दिन भर शहर में घूम घूम कर बन्द को सफल बनाया।
छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स, संभागीय चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स, व्यापर विहार, गोल बाजार, सदर बाजार, सरकंडा, जरहाभाठा,
तिफरा, सिरगिट्टी, दयालबंद, जूना बिलासपुर, गुरुनानक चौक, बुधवारी बाजार, सराफा बाजार, श्रीराम क्लॉथ मार्किट, राजीव
प्लाजा मार्किट, लिंक रोड, मुंगेली नाका, सरकंडा, राजकिशोर नगर, उसलापुर आदि सभी व्यापारी संघठनो ने बिलासपुर बंद का समर्थन किया। शनिचरी बाजार, बृहस्पति बाजार, तिफरा फल सब्ज़ी मंडी, थोक कपडा व्यापारी संघ, रामा मैग्नेटो मॉल,36 सिटी मॉल, तारबाहर चौक, लिंक रोड, शिव टाल्कीस चौक, ऑटो मोबाइल डीलर एसोसिएशन, होसरि कपडा व्यापारी संघ
ने स्वस्फूर्त बन्द का बिना दबाव या प्रयास के सफल बनाया।
बिलासपुर निजी स्कूल संघठन, बिल्डरो संस्था, आई ऍम ए एसोसिएशन, जिला अधिवक्ता संघ, आदर्श युवा मंच, अरपा पार युवा संघठन जैसे कई सामजिक संघठनो ने बंद के दौरान शहर में घूम घूम कर समर्थन मांगा। जनता ने भी भरपूर समर्थन किया। हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने कहा कि बंद की सफलता केंद्र और राज्य की सरकारों को स्पष्ट संकेत दे रही है कि लोकतंत्र में जवाबदार सरकार होने का फ़र्ज़ निभाए। समिति के सदस्यों ने कहा कि पहले ही मनमाना किराया बढ़ाया गया है। अब यात्री की कमी का बहाना बनाकर इंदौर उड़ान को बन्द किया जा रहा है। इस प्रकार के रवैये को हरगिज बर्दास्त नहीं किया जाएगा।
हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति के सदस्य सुदीप श्रीवास्तव ने कहा कि बिलासपुर से दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, कोलकाता जैसे महानगरों तक सीढ़ी उड़ान की मांग अब तक पूरी नहीं हुई है। 4 सी स्तर के एयरपोर्ट का भी आजतक अत पता नहीं है। तमिलनाडु जैसे छोटे राज्य में आठ एअरपोर्ट की सुविधा है। लेकिन छत्तीसगढ़ को सिर्फ रायपुर एअरपोर्ट के सहारे छोड़ दिया गया है।
 
पर्यटन बोर्ड अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने बताया कि भाजपा नेताओं को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर बिलासपुर हवाई सेवा सुविधाओं की मांग को केन्द्र के सामने रखना चाहिए। अटल ने बताया कि बिलासपुर ने हमेशा अपना अधिकार संघर्ष से पाया है। एक बार फिर बिलासपुर जाग गया है। स्वस्पूर्त आंदोलन सबसे बड़ा उदाहरण है।
प्रमोद नायक ने कहा कि बिलासपुर बन्द आंदोलन का पहला चरण है। उड्डयन मंत्री को बताना चाहते हैं कि हवाई सेवा को लेकर हम ना केवल संघर्ष करेंगे। बल्कि रणनीति के साथ जोन आंदोलन से भी बड़ा आंदोलन खड़ा करेंगे।
संसदीय सचिव रश्मि सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी प्रदेश के 14 भाजपा नेताओं को मिलने के लिए बुलाया है। हमारी सलाह है कि छत्तीसगढञ के भाजपा नेता बिलासपुर के साथ किए जा रहे अन्याय को सामने रखें। हवाई सुविधा आज बिलासपुर की सबसे बड़ी जरूरत है। मांग को पुरजोर तरीके से उठाएं।
व्यापार वर्ग के सक्रिय नेता जय प्रकाश मित्तल ने बताया कि व्यापार को कितना नुकसान हुआ या कितना होगा…इस बात को लेकर व्यापार जगत को अब परवाह नहीं है। बिलासपुर के साथ पहले भी अन्याय हुआ था। आज भी हो रहा है। हमें एक बार फिर जोन आंदोलन की तरफ धकेला जा रहा है। हमे इस बात की परवाह नहीं है कि व्यापार को नुकसान हुआ। लेकिन इस बात की जरूर चिन्ता है कि केन्द्र सरकार बिलासपुर के साथ बहुत अन्याय कर रही है। अब केन्द्र को बिलासपुर की जनता की आवाज को सुनना ही होगा।

Join Our WhatsApp Group Join Now

 

close