VIDEOःनिकाय मंत्री डहरिया ने डॉ. रमन सिंह को कहा..बेचारा..डाक्टरी में फेल.उनका राम चंदा डंडा वाला.सरकार भी गयी.15 सीट में सिमट गए.हिसाब बताएं.सामने आ रहे कई फर्जी चंदाबाज

बिलासपुर— डॉ.रमन सिंह के पास अब कोई काम नहीं है। बेरोजगार बैठे हैं। इसलिए अनाप शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। डाक्टरी खत्म हो गयी..सरकार चली गयी..। अब बैठकर चंदा काट रहे हैं। दरअसल रमन और भाजपा के राम चंदा और डंडा वाले हैं। हमारे राम दिल में हैं। यह बातें बिलासपुर प्रवास के दौरान भूपेश सरकार के निकाय मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। डहरिया ने कहा कि निगम में धीरे धीरे कर्मचारियों की भर्तियां हो रही है। विकास को लेकर सरकार के पास फंड की कमी नहीं है। सरकार ने अब तक किए गए 36 में 25 वादों को पूरा कर दिया है। सरकार को अभी तीन साल बाकी हैं। इसलिए शराबबन्दी वादा को लेकर किसी को परेशान होनी की जरूरत नहीं है।

                                बिलासपुर एकदिनी प्रवास भूपेश सकार के निकाय मंत्री डॉ. शिव डहरिया अनेक कार्यक्रमों में शामिल होने पहुंचे। इसके पहले निकाय मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान सवालों का जवाब दिया। साथ ही भाजपा और रमन सिंह के बयानबाजी को लेकर जमकर निशाना भी साधा।

विपक्ष का काम हल्ला करना

            सवाल जवाब के दौरान शिव डहरिया ने बताया कि विपक्ष का काम झगड़ा और हल्र्ला करना है। खजाना खाली का सवाल ही नहीं है। हमने केन्द्र सरकार की तरह ना तो कर्मचारियों का वेतन काटा..ना ही विकास कार्य रोका। कोरोना काल में जनप्रतिनिधियों का भी वेतन दिया गया।  इसके अलावा धान भी खरीदा है। विकास कार्य तेजी से हो रहा है। किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

डीपीआर से निश्चित होगा

               अरपा पुल हैरिटेज है। क्या उसका संरक्षण किया जाएगा। जानकारी के अनुसार पुल से अमृत मिशन का पाइप लाइन बिछाया जाना है। सवाल के जवाब में डहरिया ने कहा कि इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। डीपीआर बनता है। मामला सामने आएगा तो देखेंगे।

डाक्टरी में फेल..उनका राम डंडा चंदा वाला

                                   डॉ.रमन सिंह का सवाल है कि क्या आप लोग राम को मानते है या नहीं…। डहरिया ने कहा कि फालतू प्रश्न है। डॉ. रमन सिंह बेचारा है…इन दिनों बैठा है। डाक्टरी खत्म हो गयी..मतलब फेल हो गयी। सरकार चली गयी। अब बैठकर चन्दा काट रहे हैं। उनसे पूछिए उनका राम कहां रहते हैं। हमारे राम तो दिल में रहते है। हम राज्य लाने की बात करते हैं। उनका राम चंदा वाला है…उनका राम डंडा वाला है

क्यों मांग रहे चंदा का हिसाब

                  राम मंदिर निर्माण को लेकर हो रहे चंदा का हिसाब क्यों मांग रहे। शिव डहरिया ने कहा कि बहुत लोग फर्जी रसीद लेकर गली गली में चंदा मांग रहे है। इसलिए हमने पूछा है कि समिति बताए चंदा काटने के लिए किसे अधिकृत किया है। बताना जरूरी है कि कई लोगों के खिलाफ चंदा काटने के नाम पर कई लोगों की शिकायत हुई है। एफआईआर भी दर्ज हुए है।

पर्यटन का विकास

                  रामवन गमन पथ के सवाल पर निकाय मंत्री ने कहा कि भगवान राम वनवास काल में लम्बे समय तक छत्तीसगढ़ में रहे हैं। भगवान राम छत्तीसगढ़ में कोरिया जिले के हरचोखा से प्रवेश किए थे। छत्तीसगढ़ में कई जिलों से होकर सुकमा जिले के रामाराम से अन्य प्रदेश में गए। सरकार ने फैसला किया है कि भगवान जिन जगहों में रहे या गुजरे उन स्थानों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। राम गमन पथ इसी योजना का हिस्सा है। 

भाजपा पैदा कर रही कृतिम समस्या

               एक तरफ चंदा का विरोध और दूसरी तरफ राम गमन पथ की बात..यह कैसा सिद्धान्त। शिव डहरिया ने सवाल को टाल दिया। उन्होने एक अन्य सवाल का जवाब दिया कि सरकार के खिलाफ कहीं असंतोष नहीं है। भाजपा ने कृतिम अंसतोष पैदा करने का प्रयास किया है। हमने मात्र दो साल इतना काम किया है कि पन्द्रह साल में भाजपा सरकार नहीं कर सकी।

किसान और धान दोनों में वृद्धि

                    हमारी सरकार ने किसानों और नौजवानों को प्राथमिकता में लिया है। पिछले पन्द्रह सालों में सरकार ने 50 लाख मिट्रिक टन से अधिक धान नही खरीदा है। हमने इस साल 91 लाख मिट्रिक टन धान खरीदा है। हमारी सरकार ने साढे इक्कीस लाख किसान जोडे है। जबकि भाजपा के शासन में मात्र 15 लाख किसान थे। आज बढ़कर साढ़े 21 लाख से अधिक किसान हो चुके है। हमारी सरकार की नीतियों के चलते ही किसानी छोड़ चुके किसानों ने किसानी शुरू कर दिया है। भाजपा ने घोषणा के बाद भी ना तो समर्थन मूल्य दिया और ना ही बोनस। 

                      शिव डहरिया ने बताया कि वादा खिलाफी के कारण ही पन्द्रह साल से सरकार में रहने वाली पार्टी 15 सीट में सिमट गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *