VIDEO-पुलिसिंग छोड़ जुआ,सट्टा का पैसा वसूल रही पुलिस..सरकार पर डॉ. रमन का निशाना,छत्तीसगढ़ को बनाया अपराधगढ़,सीएम करने गए थे रिक्वेस्ट

बिलासपुर–-धान उठाव और चालव संग्रहण राज्य और केन्द्र के बीच का मामला है। सीएम तो गए थे रिक्वेस्ट करने..अब वही बताएंगे कि चालिस लाख मीट्रिक टन चावल का उठाव कैसे करें। उनकी पीयुष गोयल से बातचीत हुई है। यह बातें पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने बिलासपुर प्रवास के दौरान कही। डॉ.रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार में पुलिस को पुलिसिंग का काम छुड़वाकर जुआ, सट्टा और अपराध का पैसा वसूल करने में लगा दिया गया है। हत्या बलात्कार और लूटमार आम बात हो चुकी है। दरअसल सरकार ने प्रदेश को अपराध गढ़ बना दिया है।

केन्द्र राज्य का मामला..सीएम ही बताएंगे

                 अल्प प्रवास पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह बिलासपुर पहुंचे। इस दौरान पूर्व सीएम की पत्रकारों से बातचीत हुई। चालिस लाख मीट्रिक टन चावल उठाव की अनुमति दिए जाने के सवाल पर कहा कि यह मामला राज्य और केन्द्र सरकार के बीच का है। मुख्यमंत्री दिल्ली गए थे..सरकार से रिक्वेस्ट करने…पीयुष गोयल से चावल उठाव को लेकर बातचीत हुई है। निर्णय पीयुष गोयल को लेना है।  अब मुख्यमंत्री ही बताएंगे कि क्या बातचीत हुई।

हम लड़ते रहेंगे किसानों की लड़ाई

           इसका मतलब है कि आपका सरकार और किसानों को सहयोग नहीं रहेगा। जबकि आप भी किसानों के लिए लड़ रहे हैं..और राज्य सरकार भी लड़ रही है। सवाल के जवाब में डॉ.रमन सिंह ने कहा कि किसानों की लड़ाई हमने पहले भी लड़ी है और लड़ते रहेंगे। हमारे एक एक कार्यकर्ता किसान हित में लड़ रहे है। सरकार ने गलत तरीके से रकवा काटा है। वारदाने के लिए किसानों को रूलाया गया है। पिछले साल का बोनस अभी तक किसानों को नहीं मिला है। पैसों के लिए किसानों को परेशान किया जा रहा है। इन अव्यवस्था को देखकर किसान कहने लगा है कि उसने धान पैदा कर बडी गलती कर दिया है। 

बजट की चारो तरफ हो रही तारीफ

               मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्र सरकार के बजट को ख्वाबी बजट कहा है। सवाल के जवाब में डॉ.रमन ने कहा कि बजट में गांव गरीब की प्राथमिकता को महत्व दिया गया है। समावेशी विकास की कल्पना को साकार करने वाला बजट है। बजट में आधारभूत संरचना और मूलभूत सुविधाओं को केन्द्र में रखा गया है। अब देखेंगे कि छत्तीसगढ़ का बजट कैसा होता है। सबको मालूम है कि तीस प्रतिशत की कटौती की तैयारी है। केन्द्र के ऐतिहासिक बजट की चारो तरफ तारीफ हो रही है। सभी अर्थशास्त्रियों ने बजट की तारीफ की है। 

पुलिसिंग छोड़ पुलिस वसूल रही पैसा

                      प्रदेश के कानून व्यवस्था के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून व्यवस्था की हालत बहुत खराब है। हत्याओं को जैसे दौर चल रहा है। अपराधी घटना को अंजाम देकर फरार हो जाते है। पकड़ नहीं जाते है। मानपुर में पुलिस वाले कह रहे है कि नक्सिलियों से बचना है तो शहर छोड़ दो। पुलिस ने तो लोगों को नोटिस भी दिया है कि सभी लोग मानपुर छोड़ दें। हम किसी की रक्षा नहीं कर सकते हैं। व्यवस्था की हालत यह है कि पुलिस को पुलिसिंग का छुड़वा कर दसरे काम में लगा दिया गया है। जुआ सट्टा और अन्य अपराध मामले में पुलिस पैसा वसूल रही है। जब ऐसे काम में पुलिस  लग जाएगी तो अपराध बढ़ेगा ही।

छत्तीसगढ़ बना अपराधगढ़

                        एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ अब अपराधगढ़ बन गया है। अखबारों के पन्ने अपराधिक समाचारों से भरे रहते हैं।

चन्द्राकर के सवाल को टाला

                सरकार से हटते ही आपके मंत्री आपा खो रहे हैं। अजय चन्द्राकर ने सवन्नी को ठीक करने की धमकी दी है। संगठन में कसावट भी खत्म नजर आ रही है। सवाल के जवाब में पूर्व मंत्री ने कहा किस संदर्भ में ऐसा हुआ है। उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है। सवाल को टालते हुए रमन सिंह ने कहा  मामवे को देखने की जिम्मेदारी संगठन को है।पत्रकार वार्ता के दौरान पूर्व निकाय मंत्री अमर अग्रवाल, सांसद अरूण साव, पूर्व सांसद लखनलाल साहू, विधायक डॉ.कृष्णमूर्ति बांधी समेत भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *